fbpx Press "Enter" to skip to content

शादी विवाह के समारोहों में ऑर्केस्ट्रा में बार बालाओं का डांस

  • लॉक डाउन की लगातार उड़ी रही धज्जियां

  • रात भर प्रशासन के नाक के नीचे होता रहा आर्केस्ट्रा

  • सबसे अधिक संक्रमित वाले गांव में हुआ कार्यक्रम

पिपरासी, बगहाः शादी विवाह के समारोहों का हाल देखकर यह समझना कठिन है कि

इलाके में कोरोना संक्रमण की वजह से लॉकडाउन भी लगा है। राज्य में पूर्ण लॉक डाउन

लगा दिया गया है, लेकिन अभी भी लोगो मे कानून और महामारी का डर नही दिख रहा है।

एक ओर इस लॉक डाउन के दौरान कोरोना गाइड लाइन को पालन कराने के लिए प्रशासन

लगी हुई है पर यहां का नजारा कुछ और ही बयां कर रहा है पुलिस चौकी के मात्र 500 मीटर

की दूरी पर प्रशासन के नाक के नीचे पूरी रात आर्केस्ट्रा, डीजे, ढोल नगाड़ों बाजते रहे

लेकिन पुलिस को इसकी खबर भी नही हुई। पुलिस के इस उदासीनता को लेकर

समाजसेवियों व स्थानीय लोगों में आक्रोश व्याप्त है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में दो

दर्जन लोग कोरोना से संक्रमित है। इसको लेकर कुछ समय के लिए सख्ती दिखाई जा रही

है लेकिन शाम होते ही बाजार लग जा रहा है। जहां पर हर प्रकार की दुकान खुल रही है।

बाजार में लोग बिना कोरोना गाइड लाइन पालन किये ही इधर उधर घूम रहे है लेकिन

स्थानीय पुलिस चौकी पर तैनात पुलिस बल आराम फरमा रहे है। प्रखंड में अभी तक मिले

कोरोना संक्रमितों में सबसे अधिक लोग बहरिस्थान गांव में ही है। इस कारण इस गांव में

सभी प्रकार के सामाजिक व धार्मिक कार्यक्रमों में पुलिस पूरी सख्ती दिखा रही है लेकिन

इसी गांव में बीती रात हुए इतने बड़े कार्यक्रम पर रोक क्यो नही लगी? इस सभी बातों को

लेकर लोगों में आक्रोश व्याप्त है।

शादी विवाह में बार बाला का डांस लॉकडाउन के बाहर है क्या

फूलन देवी जन जागरण सेना के जिला उपाध्यक्ष कृष्णा गिरी ने बताया कि गांव में पांच

लोग अगर बैठ कर कीर्तन कर रहे है, किसी गरीब के घर शादी हो रही है तो स्थानीय

पुलिस उसे रोकवा दे रही है बाजा आदि बन्द करा दे रही है लेकिन यहा पर इतना बड़ा

कार्यक्रम हुआ कैसे? क्या इसके लिए आदेश लिया गया था, क्या स्थानीय पुलिस चौकी के

पुलिस कर्मी को ये आवाजे सुनाई नही दी। उन्होंने बताया कि वे इसकी जांच कर कार्रवाई

की मांग अधिकारियों से किये है। वही बीडीओ बिड्डू कुमार राम ने बताया कि मामला

गंभीर है। थानाध्यक्ष को जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया गया है। वही पीएचसी प्रभारी

ने बताया कि इस तरह के कार्यक्रम पर रोक के लिए ही लॉक डाउन लगाया गया था कि

लोगों की भीड़ न जुटेगी और न ही बीमारी फैलेगी लेकिन इस तरह के भीड़ जुटाना बहुत

गंभीर लापरवाही है। इसके परिणाम ठीक नहीं होंगे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहारMore posts in बिहार »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: