बैंक कर्मियों ने तीन बैकों के विलय के विरोध में किया प्रदर्शन

बैंक कर्मियों ने विलय के खिलाफ किया प्रदर्शन

चंडीगढ़ः बैंक कर्मियों ने केंद्र सरकार के उस फैसले के विरोध में जोरदार प्रदर्शन किया।

यूनाईटड फोरम ऑफ यूनियन(यूएफबीयू)  के आहवान पर सैंकड़ों बैंक कर्मियों ने

तीन बैंकों बैंक ऑफ बड़ौदा, देना बैंक और विजय बैंक के विलय के विरोध में आज यहां जोरदार प्रदर्शन किया।

विभिन्न बैंकों के लगभग 600 बैंक कर्मी यहां बैंक स्क्वेयर में एकत्रित हुये

तथा इन्होंने केंद्र सरकार की बैंकों का विलय करने की नीति की भर्त्सना करते हुये प्रदर्शन और नारेबाजी की।

इस मौके पर यूएफबीयू के संयोजक संजीव बंदलिश ने  कहा कि केंद्र सरकार एक ओर तो छोटे बैंकों के लिये लाईसेंस जारी कर रही है

दूसरी ओर वह सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी) को कमजोर बता कर इनका विलय कर रही है।

श्री बंदलिश ने दावा किया कि लगभग सभी पीएसबी लाभ में है लेकिन देनदारियों और जोखिमों

के प्रति प्रावधान करने के कारण इनमें घाटा दिखाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कर्ज लेकर इसे नहीं चुकाने वाले बड़े कार्पोरेट घरानों से बसूली करने के प्रति सरकार गम्भीर नहीं है

और न ही इस सम्बंध में कोई कड़े कानून बनाये जा रहे हैं।

विरोध प्रदर्शन को अन्य बैंक कर्मचारी नेताओं ने भी सम्बोधित किया।

बैंक कर्मियों की तरफ से विरोध का अंदाजा केंद्र सरकार को पहले से ही था।

इसीलिए बैंकों के विलय की घोषणा करते वक्त अरुण जेटली ने भी अंतिम निर्णय बैंक पर ही छोड़ दिया था।

बैंक कर्मियों का मानना है कि दरअसल सरकार बड़े पूंजीपतियों के यहां डूबे पैसों की तरफ से जनता का ध्यान हटाने के लिए ऐसे फैसले ले रही है।

जिससे देश भर के बैंक कर्मियों और ग्राहकों को ही नुकसान होने वाला है।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.