fbpx Press "Enter" to skip to content

बजर मारा के ग्रामीणों ने श्रमदान से जर्जर सड़क को किया मरम्मत

ओरमांझीः बजर मारा गांव के ग्रामीणों ने शुक्रवार को गांव के कच्चे जर्जर सड़क को

श्रमदान से मरम्मती कर चलने योग्य बनाया । सड़क की स्थिति काफी दयनीय था

जिसके चलते लोगों का आवागमन में काफी परेशानी हो रहा था इसी सड़क से कामता और

बजर मारा गांव के लोगों का आना जाना होता है ।मालूम हो कि सड़क में पिछले 15 साल

पहले ग्रेड-1 से बोल्डर बिछाया गया था जिसके बाद से रोड जस का तस है जिसके चलते

जगह-जगह बड़े-बड़े बोल्डर निकले हुए हैं जिसके चलते गाड़ियां चलाना और पैदल चलना

काफी दुश्वार भरा होता है कई बार सड़क दुर्घटना भी हो चुकी है जिसकी सूचना ग्रामीणों ने

अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों से की है मगर ग्रामीणों द्वारा दिए गए आवेदन का कोई

असर देखने को नहीं मिल रहा है इस पथ पर चलना काफी परेशानी भरा होता है जगह-

जगह गड्ढे पड़े हुए हैं बरसात के दिनों में जहां पानी गड्ढों में भर जाने के कारण सड़क पर

चलना ग्रामीणों को दिक्कत हो रहा था वही इन दिनों सड़क पर ज्यादा गड्ढे हो जाने के

कारण गाड़ियां पर करना दिक्कत हो रहा था जिसको देखते हुए ग्रामीणों ने श्रमदान कर

300 मीटर दूरी तक रोड की मरम्मत कर सरकार को आईना दिखाने का काम किया है।

बजर मारा गांव के अलावा भी कई गांवों का संपर्क पथ है

भले ही झारखंड में कई सरकारें आई गई मगर ग्रामीण क्षेत्रों की विकास जस की तस है ऐसे

में ग्रामीणों का विश्वास सरकार के ऊपर से उठता दिख रहा है ग्राम सड़क योजना के तहत

ऐसे सड़कों की मरम्मत की अति आवश्यक है ताकि लोग सही सलामत अपने घरों तक

पहुंच सके और गांव में विकास की लहर दौड़ सके मौके पर फिरोज अंसारी ने बताया कि

सरकार के पदाधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों को इस और ध्यान देने से निश्चित तौर पर

ग्रामीण सड़क चकाचक हो जाएगा और लोगों को आवागमन में आसानी होगी। श्रमदान के

मौके पर मुख्य रूप से समाज सेवक मोहम्मद तसलीम अंसारी, वार्ड सदस्य फिरोज

अंसारी , तौसीफ,इरफान, शाहिद, जहांगीर, तोफिक , सोयब , मकसूद सहित अनेकों

ग्रामीण हाथों में कोड़ी कुदाल ले कर दिन भर सड़क पर पसीना बहाते देखे गये।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कामMore posts in काम »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राज काजMore posts in राज काज »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: