fbpx Press "Enter" to skip to content

बगदादी के अंडरवियर से हुई मौत के बाद लाश का डीएनए टेस्ट







बगदादः बगदादी के अंडरवियर की वजह से मारे जाने के बाद पहचाना

गया। अमेरिका सेना ने जब उसे उसके ठिकाने पर घेर लिया था तो पहले

तो वह चिल्लाता हुआ अंदर की तरफ भागा। उसकी पत्नियों ने हथियारबंद

अवस्था में अमेरिकी सैनिकों को चुनौती दी। वे सभी हमले के पहले ही दौर

में मारे गये। अंदर चारों तरफ से घिर जाने के बाद बारूदी विस्फोट से

बगदादी ने खुद को उड़ा लिया। इस विस्फोट में उसके तीन बच्चे भी मारे

गये हैं। वहां विस्फोट के बाद बगदादी की लाश चिथड़ों में बदल गयी थी।

इसलिए उसके परीक्षण के लिए पहले चुराया गया बगदादी के अंडरवियर का

फायदा वहां घेराबंदी करने वाले अमेरिकी सैनिकों को मिला। इसके जरिए

उनकी डीएनए का मिलान कर इस बात की पुष्टि की गयी कि मारा गया

व्यक्ति दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकवादी संगठन का मुखिया अबू

बकर अल बगदादी ही था।

दुनिया के सबसे खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के प्रमुख

अबु बकर अल-बगदादी के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए अमेरिका

को काफी मेहनत करनी पड़ी। बगदादी की जानकारी लेने के लिए अमेरिकी

खुफिया एजेंसी (सीआईए) ने कुर्द लड़ाकों के संगठन सीरियन डेमोक्रेटिक

फोर्सेज (एसडीएफ) से हाथ मिलाया था।

बगदादी का अंडरवियर बड़ी सावधानी से चुराया गया था

एसडीएफ का एक जासूस सावधानी से बारिशा में उस घर पर पहुंचा जहां

बगदादी रहता था। जासूस ने बगदादी के अंडरवियर वहां से चुराकर

सीआईए को लाकर दिए। अंडरवियर से मिले सैंपल से डीएनए टेस्ट किया

गया। डीएनए में साफ हो गया कि वहां मौजूद शख्स आतंकवादी बगदादी

ही है। इसके बाद अमेरिका ने इस ऑपरेशन को अंजाम दिया।

एसडीएफ के वरिष्ठ सलाहकार पोलट कैन ने ऑपरेशन के बारे में

ट्वीट करते हुए लिखा, 15 मई से ही हम बगदादी के ठिकाने पर नजर रख

रहे थे और उसकी खोज कर रहे थे।

पोलट कैन ने कहा कि बगदादी हमले के खौफ से लगातार अपने ठिकाने

बदलता रहता था, इस बार भी वो अपना ठिकाना बदलने ही वाला था।

हमारा एक जासूस उस घर में पहुंचा जहां बगदादी रहता था।

उसने बगदादी के कुछ अंडरवियर को वहां से चुरा लिया।

इसके बाद इस अंडरवियर के सैंपल से डीएनए टेस्ट किया गया

और ये सुनिश्चित किया गया कि वह शख्स बगदादी ही है।

आईएस के खात्मे तक जारी रहेगा अभियान: अमेरिका

इस्लामिक स्टेट (आईएस) के सरगना अबू बकर अल-बगदादी के मारे जाने

के बाद भी अमेरिका में सीरिया में इस आतंकवादी संगठन के खिलाफ

अभियान जारी रखेगा। अमेरिका के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने कहा कि

सीरिया में 2014 से चल रहा आईएस को शिकस्त देने का अमेरिकी

अभियान जारी रहेगा। अमेरिकी ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ जनरल मार्क

मिले के साथ एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए एस्पर ने कहा, ‘हमने

पश्चिम एशिया में अपने इतिहास से सबक लिया है कि अगर उद्देश्य साफ

नहीं हो तो संघर्ष में उलझे रहना आसान है।

एक पुलिस बल की तरह हर छोटा विवाद सुलझाना हमारी प्राथमिकता नहीं

है। आईएस के खिलाफ 2014 में शुरू किया गया हमारा अभियान जारी

रहेगा और हम इस आतंकवादी संगठन को हराकर रहेंगे।’

पिछले सप्ताह रविवार को अमेरिका की डेल्टा टीम ने उत्तर पश्चिम

सीरिया में इदलिब के गांव में छिपे दुनिया के मोस्ट वांटेड आतंकवादी

बगदादी को विशेष सैन्य अभियान में मार गिराया था।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.