fbpx Press "Enter" to skip to content

विश्व प्रसिद्ध जैन तीर्थ के एटीएम में गोबर तीर्थयात्री परेशान

पीरटांड़: विश्व प्रसिद्ध जैन तीर्थ स्थल मधुबन में बैंक ऑफ इंडिया पारसनाथ

शाखा की ओर से एटीएम लगाया गया है लेकिन सुरक्षा गार्ड एवं रखरखाव के

अभाव में यहां जानवरों का अड्डा बन गया है जिससे देश विदेश से आने वाले

तीर्थ यात्रियों को एटीएम से पैसा निकालने में भारी दिक्कतों का सामना

करना पड़ रहा है ।

शुक्रवार को एटीएम के अंदर एक गाय घुस गई जिस कारण बहुत देर तक

वहां तीर्थयात्री पैसा नहीं निकाल पाए एटीएम घर में गाय पूरा गोबर

कर दी लेकिन इसको देखने वाला कोई नहीं था ।

अगल.बगल के दुकानदारों ने बताया कि रखरखाव के अभाव में एटीएम

घर का शीशा टूट गया है वही एटीएम स्थापना से लेकर अब तक इसकी

किसी भी तरह की मरम्मत नहीं कराई गई है और नहीं समय-समय

पर इसका रंग रोगन किया गया है पहले यहां एक सुरक्षा गार्ड रहते थे

लेकिन उसको भी इधर कुछ सालों से हटा लिया गया है जिससे इसकी

स्थिति और बदतर हो गई है क्योंकि मधुबन जैनियों का विश्व प्रसिद्ध

तीर्थ स्थल है जहां देश के कोने.कोने से तीर्थयात्री दर्शन पूजन को

आते हैं उनको एटीएम में आकर पैसा निकालने में दिक्कतों का सामना

करना पड़ रहा है जिस कारण बैंक ऑफ इंडिया के साथ.साथ झारखंड

की छवि भी खराब हो रही है।

विश्व प्रसिद्ध इस तीर्थ स्थल पर हजारों तीर्थयात्रियों का आना जाना

मधुवन में सालों भर जैन तीर्थयात्रियों का आना जाना लगा रहता है।

इसके अलावा अन्य धार्मिक और सामान्य पर्यटक भी यहां नियमित तौर

पर आते रहते हैं।

विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल पहले था नक्सलियों का अड्डा

विश्व प्रसिद्ध इस तीर्थ स्थल पर पहले नक्सलियों का अड्डा जैसा बन गया

था। अब पुलिस के निरंतर अभियान चलाने की वजह से इसमें काफी कमी

आयी थी। इस नक्सली आतंक के कम होने की वजह से भी अब इस धार्मिक

स्थल पर लोगों के आने जाने का सिलसिला पहले के मुकाबले ज्यादा बढ़

गया है। ऐसी स्थिति में बाहर से आने वाले जब एटीएम से पैसा नहीं निकाल

पाते हैं तो उन्हें स्वाभाविक तौर पर परेशानी होती है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from गिरिडीहMore posts in गिरिडीह »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धर्मMore posts in धर्म »
More from पर्यटन और यात्राMore posts in पर्यटन और यात्रा »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!