Press "Enter" to skip to content

एटीके मोहन बागान का एएफसी कप के फाइनल में पहुंचने का सपना टूटा







कोलकाता: एटीके मोहन बागान का एएफसी कप शीर्ष भारतीय फुटबॉल क्लबों में से एक एटीके

मोहन बागान का उज्बेकिस्तान के एफसी नसाफ से हार के बाद वार्षिक महाद्वीपीय

क्लब फुटबॉल प्रतियोगिता एएफसी कप के फाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया।

उज्बेकिस्तान के करशी स्थित मरकजी स्टेडियम में बुधवार रात खेले गए मैच में मेजबान एफसी

नसाफ ने भारतीय टीम मोहन बागान को 6-0 से करारी शिकस्त दी और अगले महीने होने वाले

2021 एएफसी कप के इंटर जोनल के फाइनल में प्रवेश किया। मैच की शुरुआत से ही चीजें मोहन

बागान के पक्ष में नहीं रही। उन्हें सबसे पहला झटका तब लगा जब उन्हीं के डिफेंडर प्रीतम कोटल ने

चौथे मिनट में खुद अपने ही गोलपोस्ट में गोल कर दिया, जिससे एफसी नसाफ को अपने आप ही

1-0 की बढ़त मिल गई।

एटीके मोहन बागान को मैच में वापस आने का मौका ही नहीं मिला

इसके बाद एफसी नसाफ के 19 वर्षीय युवा स्ट्राइकर खुसैन नोरचायेव ने शानदार खेला दिखाया।

उन्होंने शुरुआती 32 मिनटों में गोल की हैट्रिक लगाकर न केवल टीम को बढ़ी बढ़त दिलाई, बल्कि

टूर्नामेंट के स्कोरिंग चार्ट में शीर्ष गोल स्कोरर बन गए। नोरचायेव ने 18वें, 21वें और 31वें मिनट में

गोल किया। 4-0 से पिछड़ने के बाद एटीके मोहन बागान को मैच में वापस आने का मौका ही नहीं

मिला। मैच उनसे तब और दूर चला गया, जब फॉरवर्ड ओयबेक बोजोरोव ने पहले हाफ में धमाकेदार

पांच गोल पूरे किए। घर की भीड़ को खुश किया। पहले हाफ के एक मिनट के अतिरिक्त समय में

गोल दाग कर स्कोर को 5-0 कर दिया। मैच के अंतिम चरण में सब्सिट्यूट के रूप में मैदान पर उतरे

डोनियोरजोन नारजुलाएव ने 71वें मिनट में छठा गोल दागा।

अंत में मैच 6-0 के स्कोर पर समाप्त हुआ। इस बड़ी जीत के साथ एफसी नसाफ ने एक दशक पहले

खिताब जीतने के बाद पहली बार एएफसी कप फाइनल में प्रवेश किया।

वह अब अक्टूबर में एएफसी कप के इंटर जोनल फाइनल हांग-कांग के ली मैन एफसी के साथ

भिड़ेगा। इस मैच का विजेता नवंबर में फाइनल खेलेगा।



More from फुटबॉलMore posts in फुटबॉल »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: