fbpx Press "Enter" to skip to content

पाकिस्तान में सेना और पुलिस के बीच टकराव की स्थिति

  • आईजी के कथित अपहरण पर पुलिस विद्रोह

  • अनेक अफसरों ने अवकाश का आवेदन दे दिया

  • जनरल बाजवा ने घटना की जांच के आदेश दिये

विशेष प्रतिनिधि

नईदिल्लीः पाकिस्तान में सेना और सिंघ पुलिस के बीच टकराव की स्थिति बनी हुई हैं।

सिंध पुलिस के आईजी का सेना द्वारा अपहरण किये जाने की कथित सूचना के बाद वहां

तेजी से हालात बिगड़ते जा रहे हैं। हालात इतनी तेजी से बिगड़े हैं कि पाकिस्तान के सेना

प्रमुख जनरल बाजपा को पूरे मामले की जांच का आदेश तत्काल देना पड़ गया है।

छनकर आयी सूचनाओं के मुताबिक पिछले सप्ताह पीडीएम के बैनर तले विरोधियों के

एक प्रदर्शन के बाद राष्ट्रीय स्तर पर यह आंदोलन फैल गया था। सभी स्तरों पर

प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना की राजनीति में दखल का विरोध होने लगा था। इसके

बाद पाकिस्तान मुस्लिम लीग के नेता मरियम नवाज के पति सफदर अवान को

गिरफ्तार कर लिया गया था। वह करांची के एक होटल के कमरे से गिरफ्तार किये गये थे।

इस गिरफ्तारी के बाद अचानक से सिंध की पुलिस न सिर्फ भड़क गयी थी बल्कि इस

हथियारबंद पुलिस बन ने विद्रोह कर दिया था। सफदर की गिरफ्तारी के वक्त यह आरोप

लगाया गया था कि पाकिस्तान की सेना के पूर्व अधिकारी होने के बाद भी उन्होंने मुहम्मद

अली जिन्ना का अपमान किया। इस बीच सिंध पुलिस ने दो प्रमुख नेताओँ के गायब कर

दिया और यह आरोप लगाया कि यहां के आईजी मुस्ताक अहमद महार का सेना ने

अपहरण कर लिया है।

पाकिस्तान में हालात इतने बिगड़े कि सरकार भी सफाई दे रही

मामला बिगड़ते देख सिंध की सरकार की तरफ से यह जानकारी दी गयी कि सरकार की

तरफ से सफदर को गिरफ्तार करने का आदेश नहीं दिया गया है। इस  सूचना के बाद सिंध

की पुलिस और आक्रामक हो गयी और बिलावल भुट्टो जरदारी ने पूरे मामले की जांच की

मांग कर मामला और गरमा दिया। अनेक पुलिस अधिकारी सेना की इस कार्रवाई के

विरोध में अवकाश पर चले गये। अभी हालात ऐसे हैं कि सिंध पुलिस के तीन एआईजी, 25

डीआईजी, 30 एसएसपी और दर्जनों एसपी के साथ साथ डीएसपी और एसएचओ ने छुट्टी

का आवेदन दिया है।

परिस्थिति बिगड़ने देख कराची के कॉर्प्स कमांडल ने तुरंत ही मामले की जानकारी ली

और सारे मामले में आईजी के अपहरण की कोई सूचना नहीं होने की वजह से मामला और

बिगड़ गया। वैसे इस दौरान यह अपुष्ट सूचना भी मिल रही है कि सिंध पुलिस के जवानों

ने अनेक स्थानों पर अपना पोस्ट खाली करना प्रारंभ कर दिया है। राजनीतिक स्तर पर

इस मामले को लेकर टीका टिप्पणी होने के बीच ही पुलिस की तरफ से यह सफाई दी गयी

है कि आईजी ने खुद ही अवकाश पर जाने का फैसला लिया है और अपने सभी

अधिकारियों को अपना छुट्टी का आवेदन वापस लेने का अनुरोध किया है। लेकिन इस बीच

आईजी के सामने नहीं आने की वजह से स्थिति तेजी से बिगड़ती जा रही है।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कूटनीतिMore posts in कूटनीति »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पाकिस्तानMore posts in पाकिस्तान »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: