Press "Enter" to skip to content

मणिपुर में असम राइफल्स को मिली बड़ी कामयाबी

  • एके-47 समेत भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद

उत्तर पूर्व संवाददाता

गुवाहाटी : मणिपुर में असम राइफल्स ने इम्फाल जिले के तमोंगबंग गांव से एक एके 47,

दो सीएमजी, दो .32 एमएम पिस्टल, दो 0.22 एमएम पिस्टल, आठ असॉर्टिड मैगजीन,

छत्तीस राउंड और विस्फोटक बरामद किया है। असम राइफल्स ने ट्वीट के जरिए इस

संबंध में जानकारी शेयर की। इससे पहले सुरक्षाबलों ने मोरेह टाउन से के एन ए के एक

कैडर को पकड़ा और एक अलग ऑपरेशन में मणिपुर के मोरेह जिले में बीपी-76 के पास

एक 9 एमएम पिस्टल, दो चीनी हैंड ग्रेनेड और असॉर्टिड गोला-बारूद बरामद किया गया

था। इसके अलावा कुछ दिन पहले मणिपुर के कंगपोकपी जिले के एक गांव में कथित तौर

पर असम राइफल्स के एक जवान की गोली से एक व्यक्ति की मौत होने से गुस्साए

स्थानीय लोगों की एक भीड़ ने असम राइफल्स के दो वाहनों को आग के हवाले कर

अर्धसैनिक बल के कैंप को क्षतिग्रस्त कर दिया था। लोगों की भीड़ ने असम राइफल्स के

दो वाहनों में आग लगा दी, जिसके वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए। स्थानीय

निवासियों ने बताया कि ये घटना कांगपोकपी जिला मुख्यालय से करीब 50 किलोमीटर

दूर पश्चिम में चलवा गांव में हुई। जवान की गोली लगने से जिस व्यक्ति की मौत हुई है,

उसकी पहचान पहचान जिले के चलवा गांव के 29 वर्षीय दिहाड़ी मजदूर मंगबोलाल

लहौवम के रूप में हुई। स्थानीय लोगों ने कहा कि वह गंभीर रूप से घायल हो गया और

बाद में उसकी मौत हो गई थी।

मणिपुर में पिछले कुछ अरसे से लगातार अभियान

आतंकवादी गतिविधियों और मादक पदार्थों की तस्करी की सूचना पर असम राइफल्स

लगातार मणिपुर में अपना अभियान चला रही है। इन अभियानों का बेहतर परिणाम भी

निकला है। प्रतिबंधित संगठनों के हथियार बंद कैडर यहां के जंगलों से या तो पकड़े गये हैं

अथवा मुठभेड़ में मारे गये हैं। इसके अलावा म्यांमार के रास्ते मादक पदार्थों की तस्करी

करने वालों पर भी इस सतर्कता की वजह से काफी लगाम लगा है।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from आतंकवादMore posts in आतंकवाद »
More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from मणिपुरMore posts in मणिपुर »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »

One Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
Exit mobile version