fbpx Press "Enter" to skip to content

असम पुलिस भर्ती घोटाला में छापामारी में पांच करोड़ बरामद

  • अपराधी के ससुर के घरों से मिले 3 करोड़ रुपये

  • घोटाले में शामिल कई अन्य लोग भी हिरासत में

  • अपराधियों के पकड़े जाने से भाजपा में खलबली

  • पूर्व डीआईजी ने मुंह खोला, कई और अफसर शामिल

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी: असम पुलिस भर्ती घोटाला के जांच की गाड़ी तेजी से आगे बढ़ी है। आज असम

में बोंगईगांव जिले के अभयपुरी में लगभग 3 करोड़ की भारी मात्रा में नकदी होने के बाद

सनसनी फैल गई। शनिवार सुबह एक घर से बरामद किया गया था। पुलिस की एक टीम

ने बंगाईगाँव के बोरिगन में एक तरानी बनिक्या के घर पर छापा मारा और 3 करोड़ से

अधिक की नकदी बरामद की। तरणी बानिक्या एक रूपम दास के ससुर हैं जिन्हें असम

पुलिस उप-निरीक्षक (एसआई) भर्ती घोटाले के सिलसिले में बोंगाईगाँव से गिरफ्तार किया

गया है। जो कि असम के भोर में छापेमारी कर एक भारतीय रेलवे कर्मचारी को गिरफ्तार

किया और असम के निचले इलाके बारपेटा जिले में उसके आवास से 2 करोड़ रुपये से

अधिक की बेहिसाब नकदी बरामद की।गिरफ्तार रेलवे कर्मचारियों की पहचान देबराज

दास के रूप में हुई है। बरपेटा पुलिस ने दास को बारपेटा शहर के गांधी नगर में उनके

आवास पर छापे के दौरान गिरफ्तार किया है।पुलिस ने कहा कि मुखबीरों से मिली सूचना

पर कार्रवाई करते हुए बारपेटा डीएसपी मदन कालिता के नेतृत्व में पुलिस की एक टीम ने

छापेमारी के दौरान उनके घर पर छापा मारा और नकदी बरामद की। जानकारी के लिए

बता दें कि रेलवे कर्मचारी दास बोंगाईगाँव में तैनात हैं। इसी के साथ पुलिस ने असम

पुलिस एसआइ भर्ती घोटाले में बोंगाईगाँव जिले से एक और आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार

किया। बोंगईगांव पुलिस के साथ क्राइम ब्रांच की एक टीम ने रूपम दास को बोंगाईगाँव

जिले के अभयपुरी स्थित उनके कानून के आवास से गिरफ्तार किया था। पुलिस ने कहा

कि रूपम के साथ एक और आरोपी रुबुल हजारिका शामिल हैं।

असम में पुलिस भर्ती घोटाला के तार अब खुलने लगे हैं

पुलिस सुबह 4 बजे से यहां छापा मार रही है। हमें पता चला है कि रूपम दास की पत्नी

पुलिस का सहयोग नहीं कर रही है। रूपम, रूबुल हजारिका का दोस्त है। भर्ती घोटाले के

एक आरोपी रुबुल हजारिका को शुक्रवार को नलबाड़ी से गिरफ्तार किया गया। वह कंपनी

के अक्षय दूरसंचार के साथ जुड़े हुए थे, जिस कंपनी को लिखित घोटाला करने के लिए उप-

अनुबंध मिला था। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि एसआई परीक्षा घोटाले के

आरोपियों के घर से देवराज दास और अभयपुरी में रूपम दास के ससुर के घर से करोड़ों

रुपये की नकदी जब्त की गई है। असम पुलिस की टीम द्वारा शुरू किए गए एक

ऑपरेशन में दोनों घरों से कुल 5 करोड़ रुपये की नकदी बरामद की गई है।

पुलिस ने शुक्रवार रात से 8 घंटे से अधिक समय तक छापेमारी की और घरों से पैसे बरामद

किए। देवराज और रूपम दोनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। असम पुलिस के

आपराधिक जांच विभाग के विश्वसनीय स्रोत ने कहा कि पूछताछ करने के बाद असम

पुलिस के एसआई परीक्षा घोटाले के मुख्य आरोपी असम के पूर्व पुलिस उप महानिरीक्षक

प्रशांत कुमार दत्ता ने घोटाले में कई बेईमान” पुलिस अधिकारियों को शामिल होने का

आरोप लगाया है।इस घोटाले में कौन-कौन लोग शामिल है सब कुछ बता दिया है,उसने जो

कुछ बताया इसके बाद सीआईडी ने जगह जगह पर छापा मारा है।

आरोपी के भाजपा से संपर्क के कारण भाजपा नेता परेशान

इस घोटाले में शामिल होने का आरोप की लेकर भारतीय जनता पार्टी के भीतर खलबली

मच गई है।मुख्य आरोपी पूर्व डीआईजी प्रशांत कुमार दत्ता के कबूलनामे से घोटाले की

कई घटनाएं सामने आया है । असम पुलिस के एक विश्वसनीय सूत्र ने कहा कि भाजपा के

एक नेता और आरएसएस नेता भी घोटाले में बराबर की हिस्सेदारी के साथ सामने आए हैं।

पुलिस सूत्रों ने बताया गिरफ्तार किये गये दोनों लोग भाजपा पार्टी से जुड़े हुए थे।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1
    Share
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from असमMore posts in असम »
More from कामMore posts in काम »
More from घोटालाMore posts in घोटाला »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »
More from शिक्षाMore posts in शिक्षा »

2 Comments

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: