fbpx Press "Enter" to skip to content

असम पुलिस की कार्रवाई के बाद मेघालय सीमा पर तनाव

शिलांगः असम पुलिस की कार्रवाई ने दो राज्यों की सीमा पर अच्छा खासा तनाव पैदा

कर दिया है। हालत यह है कि वहां के ग्रामीण असम पुलिस के खिलाफ मोर्चाबंदी कर

बैठे हैं। स्थिति पर नियंत्रण रखने के लिए मेघालय की पुलिस को भी वहां तैनात करना

पड़ा है। पता चला है कि खासी जनजाति के दो युवकों को हिरासत में लिये जाने के बाद

मेघालय-असम सीमा पर यह तनाव बढ़ गया है। सूत्रों ने शनिवार को बताया कि असम

के बोको क्षेत्र में पुलिस ने अलनींगस्टार स्राईतांग और बाइबेरिअस मारवेन को शुक्रवार

शाम हिरासत में लिया। मेघालय पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘ हमें नहीं पता कि

हिरासत में लिये जाने का मुख्य कारण क्या है?’’ लांगपीह के उमवाली में खासी ग्रामीणों

ने बताया कि शुक्रवार को कुछ पुलिस कर्मी उनके गांव में आकर बंदूक की नोक पर दो

निर्दोष युवकों को गिरफ्तार कर ले गये। उमवाली गांव के लोगों ने इससे पहले 19

फरवरी को शिकायत की थी कि असम पुलिस गांव में आई थी और वह एक जनजाति

ग्रामीण की भूमि पर पर एक सीमा चौकी बनाना चाहती थी। ग्रामीणों ने नई सीमा चौकी

बनाने के असम पुलिस के कथित प्रयास का कड़ा विरोध किया था।

असम पुलिस के पहले एनआरसी को लेकर हुआ था तनाव

असम में एनआरसी की प्रक्रिया जारी रहने के दौरान भी इस इलाके में तनाव की स्थिति

बनी थी। वहां के लोगों ने खास तौर पर अपने तमाम गांवों में लोगों को अनजान लोगों

की गतिविधियों पर नजर रखने की हिदायत दे रखी थी। इस क्रम में कुछेक इलाकों में

बाहरी लोगों के प्रवेश तक पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। ऐसा सिर्फ असम के लोगों के

जबरन मेघालय के इलाकों में प्रवेश करने अथवा अपने घर बनाने को रोकने के लिए

किया गया था। उस दौरान वहां अपने रिश्तेदारों से मिलने आने वालों से भी कड़ी

पूछताछ हुई थी। अब असम समझौता लागू होने के पूर्व ऐसा तनाव फिर से दोनों राज्यों

के रिश्तों में अड़चन पैदा कर सकता है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from असमMore posts in असम »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!