fbpx Press "Enter" to skip to content

असम-मिजोरम दोनों राज्यों के सीमा पर फिर बवाल स्कूल में बम विस्फोट

  • ब्यूरो प्रमुख

गुवाहाटी: असम-मिजोरम दोनों राज्यों से केंद्रीय गृह मंत्री ने आपसी समझौते पर

बातचीत करके सीमा विवाद समाप्त करने का अनुरोध किया। लेकिन मिजोरम सरकार

केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश को अमान्य कर रही है। असम मिजोरम सीमा पर फिर से

आग लग रही है।भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम और मिजोरम के बीच हालिया तनाव के

कारण केंद्र सरकार ने हस्तक्षेप किया था। दोनों राज्यों के बीच सीमा विवाद और हिंसा में

कई लोग घायल हो गए थे। स्थिति फिलहाल नियंत्रण से बाहर है, क्योंकि मिजोरम

सरकार केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश को अमान्य कर रही है। अब उसी समय में अक्सर

असम-मिजोरम के बीच सीमा पर तनाव बढ़ जाता है। इस बीच, असम और उत्तर पूर्व में

आवश्यक वस्तुओं पर कीमतें बढ़ रही हैं। मिज़ुरम गाँव और शहर शहर के विभिन्न

बाजारों में प्याज और आलू 90-100 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बेचे जाते हैं। वास्तव में,

सरसों के तेल के विभिन्न ब्रांडों सहित सभी वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी की गई है। इस

प्रकार राज्य में उपभोक्ताओं को पहले से कहीं अधिक ऊंचे दामों का अंदाजा है क्योंकि

आवश्यक वस्तुओं ले जाने वाले ट्रक की आपूर्ति के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग 306 सैकड़ों पर

चार दिन से खड़े हैं। असम-मिजोरम सीमा गतिरोध में कथित सफलता के एक सप्ताह

बाद, पिछले दो दिनों में फिर से अवरोध उभर आए हैं। असम की सीमा पर स्थानीय लोगों

ने वाहनों को मिज़ोरम जाने से रोक दिया है। उनकी यह मांग है कि मिजोरम अपने क्षेत्र में

तैनात बलों को वापस ले। इस वजह से राष्ट्रीय उच्च मार्ग 306 पर चार दिन से आवश्यक

वस्तुओं की सप्लाय करने वाले सैकड़ों ट्रक खड़े हैं।

असम-मिजोरम की सीमा पर सामान लादकर सैकड़ों ट्रक खड़े

यह एनएच राज्य का लाइफ लाइन कहलाता है। पिछले हफ्ते मिजोरम ने वादा किया था

कि वह अपने सीमा क्षेत्र असम के लैलापुर से आर्म्ड फोर्सेज हटा लेगा लेकिन असम के

अधिकारियों का कहना है कि मिजोरम ने अभी तक ऐसा नहीं किया है।आधिकारिक सूत्रों

के मुताबिक, विवाद को देखते हुए केंद्रीय गृह सचिव ने गुरुवार (29 अक्टूबर) को दोनों

राज्यों- असम – मिजोरम के मुख्य सचिवों के साथ मीटिंग की ताकि समाधान निकाला

जा सके और सीमा पर तनाव कम किया जा सके।स बीच, असम के एक वरिष्ठ पुलिस

अधिकारी जीपी सिंह ने कहा कि हाल ही में असम-मिजोरम सीमा के पास लैलापुर के एक

स्कूल में बम विस्फोट स्थानीय लोगों को आतंकित करने की कोशिश हो सकती है । असम

पुलिस घटना की जांच एक केंद्रीय एजेंसी को सौंपने का अनुरोध करेगी । जीपी सिंह ने

कहा, “एक स्कूल में एक विस्फोट हुआ था. मैंने कोलाशिब जिले के पुलिस अधीक्षक के

साथ चर्चा की । हमने मिजोरम द्वारा स्थापित अतिरिक्त पुलिस पोस्ट को देखा है । ऐसा

लगता है कि बम विस्फोट स्थानीय लोगों को आतंकित करने का प्रयास हो सकता है ।

प्रारंभिक अनुमान है कि इस विस्फोट में मिजोरम के लोगों का  हाथ

सिंह ने कहा, “जांच में यह सामने आया है कि विस्फोट करने वाले लोग मिजोरम के हो

सकते हैं।[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from असमMore posts in असम »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from मिजोरमMore posts in मिजोरम »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: