असम में जहरीली शराब से अब तक 125 मरे

असम में जहरीली शराब पीने से 19 लोगों की मौत, 30 बीमार
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटीः असम में अब तक के सबसे बड़े शराब त्रासदी में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है।

अंतिम समाचार मिलने तक वहां के तीन घटनाओं में अब तक 125 लोगों की जान गयी है।

गोलाघाट जिला इससे सर्वाधिक प्रभावित है जबकि जोरहाट में भी जहरीली शराब पहुंची है।

मरने वालों में अधिकांश लोग चाय बगान में काम करने वाले मजदूर हैं। सालमोरा, तिताबोर चायबगान में सबसे अधिक मौतें हुई हैं।

इतने अधिक लोगों के मारे जाने के बाद मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने भी घटना पर दुख व्यक्त किया है।

उन्होंने कहा कि इस घटना की गहन जांच होगी और इसके लिए जिम्मेदार लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा।

इस घटना के लिए जिम्मेदार ठहराये गये शराब विक्रेता संजू ऊरांव को गिरफ्तार कर लिया गया है।

वैसे सभी इलाकों में अलग अलग अस्पतालों में भी अनेक लोग गंभीर हालत में अभी भी भर्ती हैं।

देसी शराब का कारोबार करने वाले जुगाईबाड़ी के इंदुकल्प बोरदोलोई और देबा बोरदोलोई की पहचान हो चुकी है।

स्थानीय बाजार में दस से बीस रुपये प्रति ग्लास की दर से यह जहरीली शराब बेची गयी थी।

इस घटना की जांच तथा आबकारी विभाग की मिलीभगत का आरोप लगाने वाले

एक सामाजिक कार्यकतार् प्रवीण दास पर स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं ने हमला कर दिया।

दूसरी तरफ असम गण परिषद ने मारे गये लोगों के परिवारों को पर्याप्त मुआवजा देने की मांग की है।

कांग्रेस ने इस घटना की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए प्रदेश के आबकारी मंत्री परिमल शुक्ला वैद्य से इस्तीफे की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.