fbpx Press "Enter" to skip to content

अरुणाचल के साथ साथ सिक्किम के पास चीनी सेना सक्रिय

  • भारतीय सेना पहले से तैयार बैठी है यहां

  • सैनिकों और हथियारों के साथ मोर्चाबंदी

  • 14 पेट्रोल प्वाइंट पर ढांचा बनाया चीन ने

  • एक तरफ बात चीत तो दूसरी तरफ घेराबंदी

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी : अरुणाचल के साथ साथ सिक्किम सीमा पर भी चीनी सैनिकों की गतिविधियां

तेज हो रही हैं। वे इन दोनों इलाकों के पास गतिविधि बढ़ा रहे हैं। भारतीय सेना के

इंटेलिजेंस ब्यूरो के सूत्रों ने कहा कि चीन ने अरुणाचल प्रदेश में मैकमोहन लाइन के साथ

झील में अपने गश्त करने वाले सैनिकों और हथियारों की तैनाती बढ़ा दी है । यह क्षेत्र

अरुणाचल प्रदेश में मैकमोहन लाइन में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास है। अरुणाचल

प्रदेश और सिक्किम में भारत के दावे वाले क्षेत्र के अंदर फिर सीमा विवाद बढ़ता दिख रहा

है। सीमा के पास चीन ने अपनी सैन्य उपस्थिति और हथियार भी बढ़ा रहा है। भारतीय

सेना के सूत्रों ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश चीन सीमा सहित सात स्थानों पर चीनी और

भारतीय सैनिकों की आंखों की रोशनी के साथ, चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने

अरुणाचल प्रदेश के साथ-साथ विपरीत गतिविधियों को भी शुरू कर दिया है। पीएलए के

सैनिक अपनी गश्त बढ़ा रहे हैं और भारतीय सीमा के उल्लंघन को बढ़ा रहे हैं। जो दो

सेक्टर सबसे ज्यादा पीएलए गतिविधि दिख रही है। चीन क्षेत्र में तनाव कम करने के लिए

भारत के साथ सैन्य और कूटनीतिक वार्ता करने के साथ-साथ अरुणाचल प्रदेश में

मैकमोहन लाइन में और अन्य संघर्ष बिंदुओं पर अपनी सैन्य उपस्थिति भी बढ़ा रहा है।

चीन ने मैकमोहन लाइन में बड़ी संख्या में सैनिकों की तैनाती की है। चीन की सेना ने फिर

से 14वें गश्त बिंदु के पास-पास कुछ ढांचा खड़ा किया है। इससे पहले भी ख़बर आई थी कि

वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर दोनों देश अपने सैनिकों की मौजूदगी बढ़ा रहे हैं।

अरुणाचल के साथ साथ पूरे पूर्वोत्तर में सैनिक पहुंच बेहतर

इस बीच, ये इलाक़ा सामरिक रूप से भी अहम है। अगर चीन डोकलाम में सड़क बना लेता,

तो भारत को डर था कि वो भारत के उत्तर पूर्वी राज्यों को देश से जोड़ने वाली 20

किलोमीटर चौड़ी कड़ी (चीकेंस नेक) जो मुर्गी की गरदन जैसी दिखती है, उसपर चीन की

पहुंच बढ़ जाती। आगे चल कर ये भी हो सकता था कि उस कड़ी को काटकर चीन भारत के

उत्तर पूर्वी हिस्से पर क़ब्ज़ा करने की कोशिश कर सकता था। यह उल्लेख किया जाना

चाहिए कि यह 430 फुट मल्टी-स्पैन पुल रणनीतिक रूप से पूरा हो चुका है, दपरिज़ो और

आसपास के 451 गांवों में परेशानी मुक्त संचार सुविधा की बहाली के साथ-साथ एलएसी

के साथ सभी स्थानों पर जहां हमारे सुरक्षा बल तैनात हैं। । “भारत सरकार के साथ राज्य

सरकार ने पुल के पुनर्निर्माण का मुद्दा उठाया था। अब चीन ने अरुणाचल एलएसी पर

सैनिकों की तैनाती की, भारत ने भी इस तरह सतर्कता बढ़ा दी। भारतीय सेना के सूत्रों ने

कहा कि वे उत्तर पूर्व क्षेत्र में किसी भी स्थिति को नियंत्रित करने के लिए सैनिक और

हथियार के साथ तैयार हैं

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from इतिहासMore posts in इतिहास »
More from कूटनीतिMore posts in कूटनीति »
More from चीनMore posts in चीन »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from राज काजMore posts in राज काज »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: