fbpx Press "Enter" to skip to content

गेहूं के एक दाना पर रच दिया महिषासुर वध




बाकुंड़ाः गेहूं का एक दाना वाकई छोटा होता है। स्थानीय ख्यातिप्राप्त कलाकार इंद्रनील

चट्टोपाध्याय ने इस बार इसी गेहू के दाना पर अपनी कला को साबित किया है। उन्होंने

इस बार कोरोना संकट के बीच इस एक छोटे के दाने के ऊपर ही मां दुर्गा की वह तस्वीर

गढ़ दी है, जो आम तौर पर हम पूजा पंडालों में महिषासुर वध के तौर पर देखते हैं।

वैसे यह उल्लेख प्रासंगिक हैं कि इंद्रनील की उम्र जब महज नौ साल की थी, तभी एक

चित्रांकण प्रतियोगिता में भाग लेते वक्त वह लोगों की नजरों में आ गये थे। इसी वजह

यहां पदस्थापिक जिला कलेक्टर कल्याणी चौधरी ने उनका नाम पैटर्न रख दिया था।

उसके बाद से ही इंद्रनील यहां अथवा पूरे राज्य में इंद्रनील को लोग पैटर्न नाम से भी जानते

हैं। पिछले 41 वर्षों से लगातार रंगों के साथ खेलते हुए नये नये प्रयोग करना भी उनकी

विशेषताओं में से एक है। इस रचनाधर्मिता के बीच ही वह अपनी छवि बनाने के अलावा

बच्चों को भी चित्र बनाना सीखाते आ रहे हैं। इसमें खास बात यह है कि कई बार घर के

बेकार की चीजों से नया कुछ गढ़कर हर बार उन्होंने कला प्रेमियों को हैरत में डाला है।

कांच के बोतलों में बंद देवी देवताओं के अलावा सौरभ गांगुली और सचिन तेंडूलकर भी

इसमें कैद हो चुके हैं। एक बार तो उन्होंने इसी नये प्रयोग के तहत एक नारियल के ऊपर

सपरिवार दुर्गा प्रतिमा गढ़कर लोगों को हैरान कर दिया था।

गेहूं के दाना पर प्रयोग कोरोना लॉकडाउन की सोच

इस बार कोरोना की वजह से वह कई महीनों से घर के अंदर ही हैं। इसी बीच नया कुछ

कमाल करने की चाह में उन्होंने गेहूं के दाने पर महिषासुर वध की यह तस्वीर बनायी है।

दरअसल राशन के चावल और गेहूं को देखकर ही उनके दिमाग में ऐसा ख्याल आया था।

दिमाग में यह बात एक बार आ गयी तो धीरज के साथ उस काम को पूरा करना पैटर्न की

पुराना आदत रही है।


 



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from कला एवं मनोरंजनMore posts in कला एवं मनोरंजन »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धर्मMore posts in धर्म »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: