fbpx Press "Enter" to skip to content

दुनिया भर में कोरोना से 37.27 लाख संक्रमित 2.62 लाख लोगों की मौत

दुनिया नयी दिल्लीः दुनिया भर में कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी का प्रकोप लगातार

बढ़ता जा रहा है और इससे दुनिया भर के 187 देशों एवं क्षेत्रों में अब तक 2,62,159 लोगों की

मौत हो चुकी है तथा 37,27,982 लोग संक्रमित हुए हैं। भारत में भी कोरोना वायरस का

संक्रमण तेजी से फैल रहा है और इसने 50 हजार के आंकड़े को पार कर लिया है। केन्द्रीय

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से गुरुवार सुबह जारी ताजा आंकड़ों के

मुताबिक देश के 33 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इस संक्रमण से अब तक 52,952

लोग प्रभावित हुए हैं तथा 1783 लोगों की मौत हुई है। देश में अब तक 15,267 लोग इसके

संक्रमण से पूरी तरह ठीक भी हो चुके हैं। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के

विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक

अमेरिका में कोरोना वायरस से दुनिया में सर्वाधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा यहां सबसे

12 लाख से अधिक संक्रमण के मामले सामने आए है। अब तक के प्राप्त आंकड़ों के

अनुसार विश्व के तीन देशों में दो-दो लाख तथा छह दुनिया में संक्रमितों की संख्या एक-एक

लाख से ऊपर पहुंच चुकी है जबकि भारत समेत पांच देशों में यह संख्या 50 हजार से

अधिक हो चुकी है। विश्व की महाशक्ति माने-जाने वाले अमेरिका में इस जानलेवा विषाणु

से अब तक 12,28,177 से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा 73207 लोगों की मौत हो चुकी

है। यूरोप में गंभीर रूप से प्रभावित देश इटली में इस महामारी के कारण अब तक 29684

लोगों की मौत हुई है और अब तक 2,14,457 लोग इससे संक्रमित हुए हैं। स्पेन कोविड-19

के संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित होने वाले देशों की सूची में अमेरिका के बाद दूसरे

नंबर पर है।

दुनिया भर में अमेरिका का नंबर सबसे ऊपर

यहां अब तक 220325 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं और 25857 लोगों की इसके कारण

मृत्यु हो चुकी है। इस वैश्विक महामारी के केंद्र चीन में अब तक 82,885 लोग संक्रमित हुए

हैं और 4633 लोगों की मृत्यु हुई है। दुनिया में इस वायरस को लेकर तैयार की गयी एक

रिपोर्ट के मुताबिक चीन में हुई मौत के 80 प्रतिशत मामले 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों

के थे। इस बीच, कोरोना वायरस से संक्रमण और मौत के मामले में यूरोपीय देश फ्रांस और

जर्मनी में भी हालात काफी खराब हैं। फ्रांस में अब तक 170687 लोग संक्रमित हुए हैं और

25809 लोगों की मौत हो चुकी है। जर्मनी में कोरोना वायरस से 164807 लोग संक्रमित हुए

हैं और 6996 लोगों की मौत हुई है। इसके अलावा ब्रिटेन में भी हालात लगातार खराब होते

जा रहे हैं। यहां अब तक इस महामारी से 201101 लोग प्रभावित हुए हैं और अब तक

30076 लोगों की इसके कारण मौत हो चुकी है। तुर्की में कोरोना संक्रमितों की संख्या

131744 हो गयी है तथा इससे अब तक 3584 लोगों की मौत हुई है। कोरोना वायरस से

गंभीर रूप से प्रभावित खाड़ी देश ईरान में 101650 लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 6418

लोगों की इसके कारण मौत हुई है।

अब रूस में भी बढ़ने लगा कोरोना का प्रकोप

अन्य देशों की भांति रूस में भी कोविड-19 का प्रकोप लगातार तेजी से बढ़ रहा है। रूस में

कोरोना संक्रमण के मामले डेढ़ लाख के पार पहुंच गये हैं। वहां अब तक 165929 मामलों

की पुष्टि हो चुकी है जबकि 1537 लोगों की इस महामारी के कारण मौत हुई है। कोरोना से

बेल्जियम में 8339, ब्राजील में 7921, नीदरलैंड में 5204, कनाडा में 4111, स्वीडन में

2941, मैक्सिको में 2707, स्विट्जरलैंड में 1795, आयरलैंड में 1339 और पुर्तगाल में 1089

लोगों की मौत हो गयी है। इसके अलावा पड़ोसी देश पाकिस्तान में कोरोना वायरस के अब

तक 22550 मामलों की पुष्टि हो चुकी है और इसके कारण 526 लोगों की मौत हुई है।

आरोप लगाने के बजाये महामारी पर ध्यान दे अमेरिका : चीन

चीन के द्वारा कोरोना वायरस ‘कोविड 19’ को नियंत्रण में करने के संबंधित सवालों को

दरकिनार करते हुए अमेरिका में चीन राजदूत सुई तीआंकी ने अमेरिकी सरकार को

आरोप-प्रत्यारोप लगाने का खेल बंद कर महामारी से निपटने की सलाह दी है। शिन्हुआ के

अनुसार श्री तीआंकी ने मंगलवार को कहा कि चीन पर आरोप लगाना सही नहीं होगा

क्योंकि इससे महामारी के खिलाफ लड़ाई कमजोर होगी और वैश्विक अर्थव्यवस्था को

दुरुस्त करने में देरी होगी। उन्होंने कहा कि हमेशा चीन को कोसने की प्रवृति राजनितिक

लाभ के लिए की जाने वाली गंदी राजनीति है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि इस महामारी

से चीन सबसे पहले पीड़ित होने वाला देश था इसलिए चीन को इसके लिए जिम्मेदार

ठहराने का सवाल ही नहीं होता। राजदूत ने कहा कि यदि चीन को कोरोना से हुए नुकसान

की भरपाई करनी होगी तो अमेरिका को भी 2008 में हुए वित्तीय संकट के लिए भरपाई

करनी चाहिए।

आरोप लगाने के बजाये महामारी पर ध्यान दे अमेरिका : चीन

चीन के द्वारा कोरोना वायरस ‘कोविड 19’ को नियंत्रण में करने के संबंधित सवालों को

दरकिनार करते हुए अमेरिका में चीन राजदूत सुई तीआंकी ने अमेरिकी सरकार को

आरोप-प्रत्यारोप लगाने का खेल बंद कर महामारी से निपटने की सलाह दी है। शिन्हुआ के

अनुसार श्री तीआंकी ने मंगलवार को कहा कि चीन पर आरोप लगाना सही नहीं होगा

क्योंकि इससे महामारी के खिलाफ लड़ाई कमजोर होगी और वैश्विक अर्थव्यवस्था को

दुरुस्त करने में देरी होगी। उन्होंने कहा कि हमेशा चीन को कोसने की प्रवृति राजनितिक

लाभ के लिए की जाने वाली गंदी राजनीति है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि इस महामारी

से चीन सबसे पहले पीड़ित होने वाला देश था इसलिए चीन को इसके लिए जिम्मेदार

ठहराने का सवाल ही नहीं होता। राजदूत ने कहा कि यदि चीन को कोरोना से हुए नुकसान

की भरपाई करनी होगी तो अमेरिका को भी 2008 में हुए वित्तीय संकट के लिए भरपाई

करनी चाहिए।

चीन में कोरोना का कोई नया मामला सामने नहीं आया

चीन में पिछले 24 घंटों के दौरान घातक कोरोना वायरस ‘कोविड 19’ का कोई घरेलू

मामला सामने नहीं आया। स्वास्थ्य अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। चीन

की राष्ट्रीय सवास्थ्य समिति के अनुसार शंघाई और गुआंगडाँग प्रांत में बुधवार को

वायरस के एक-एक बाहर से आये मामले दर्ज किये गए है। शंघाई में दो लोगों के

कोरोना से संक्रमित होने की आशंका भी है। समिति के अनुसार देश में पिछले 24 घंटों में

कोरोना वायरस से कोई भी मौत नहीं हुयी है।

इटली में कोरोना से मरने वालों की संख्या में लगातार कमी

इटली में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस ‘कोविड 19’ के 6939 सक्रिये मामले

कम हो गए हैं और इस दौरान 369 संक्रमितों की मौत भी हुयी है। नागरिक सुरक्षा विभाग

ने बुधवार को कहा,”छह मई तक देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 214,457 हो गयी है

जिसमें 1444 मामले एक दिन पहले सामने आये है। देश में सक्रिय मामलों की संख्या

91,528 है जिसमें से 6939 मरीजों को पूरी तरह से स्वस्थ होने के बाद छुट्टी दे दी गयी है।

369 और संक्रमितों की मौत के बाद मरने वालों की संख्या बढ़कर 29,684 हो गयी है।”

कोरोना वायरस की स्थिति पर चर्चा करेंगे ब्रिक्स देशों के अधिकारी

ब्रिक्स देशों के वरिष्ठ अधिकारी कोरोना वायरस (कोविड 19) की महामारी की स्थिति पर

वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए चर्चा करेंगे। रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से गुरुवार को

आयोजित बैठक में ब्रिक्स समूह के ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीकी देशों के

वरिष्ठ अधिकारी कोरोना वायरस के प्रसार के संबंध में विचार-विमर्श करेंगे। रूसी

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि कोरोना वायरस की महामारी के प्रसार और इस पर

रोकथाम के लिए ब्रिक्स देशों की संयुक्त कार्रवाई बैठक का प्रमुख मुद्दा रहेगा।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!