fbpx Press "Enter" to skip to content

जंगल की आग बूझाने में अब भारतीय सेना के जवान भी शामिल

  • एक एनडीआरएफ जवान की मौत

  • बांबी बाल्टी से पानी का छिड़काव जारी

  • पायलट बताते हैं कि आग नियंत्रण में है

  • कोशिशों के बाद भी हर दिन फैलता जा रहा दावानल

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी: जंगल की आग बूझाने के काम में अब भारतीय सेना को भी मैदान में आना पड़ा

है। नगालैंड और मणिपुर राज्य की सीमा पर स्थित दजुको घाटी क्षेत्र के जंगल में लगी

आग अभी तक काबू में नहीं आ रही है। दज़ुको घाटी में लगी आग मणिपुर के जंगल कॉल

कोज़िरि तक पहुंच गई है। हालाँकि, डीडीआईको घाटी की आग से निपटने के लिए तैनात

एनडीआरएफ टीम का एक एएसआई आज सुबह अपने डेरे में मृत पाया गया है। वह बेस

कैंप से कल शाम तक ड्यूटी पर था। एनडीआरएफ अधिकारी ने कहा कि सभी हमारे

सदस्यों को सलाम करते हैं। वह हीरो जिसने हमारी डेज़ीको घाटी को बचाने की कोशिश में

अपनी जान गंवा दी है। पीएचईडी मंत्री लॉसि डिको, डीसी किरणकुमार, एसपी प्रदीप,

सीएसओ, अधिकारियों और शुभचिंतकों ने आज जिला अस्पताल सेनापति में अपनी

श्रद्धांजलि और शोक व्यक्त किया। पिछले मंगलवार से लगी आग को बुझाने के लिए

भारतीय वायुसेना ने दो दिन पहले बांबी बाल्टी से लैस एक हेलीकॉप्टर एमआई-17 वी5

भेजा था। आग का फैलाव न रुकने पर अब वायुसेना ने 4 और हेलीकॉप्टर भेजे हैं जो

लगातार घाटी में बांबी बाल्टी से पानी का छिड़काव कर रहे हैं। नगालैंड के कोहिमा जिले के

जंगल में लगी आग को बुझाने की कोशिश जारी है। अधिकारियों ने बताया कि रविवार को

वायुसेना के हेलीकॉप्टर, एनडीआरएफ और वन विभाग की टीम के अलावा पुलिसकर्मी भी

आग बुझाने के काम में लगे रहे। दक्षिणी अंगामी क्षेत्र के दजुको रेंज में मंगलवार को

दोपहर के बाद आग लगी थी। नगालैंड का प्रसिद्ध पर्यटक स्थल दजुको घाटी दजुको रेंज में

ही स्थित है।कोहिमा के जिला वन अधिकारी राजकुमार एम ने बताया कि वायुसेना के

विमानों ने आग बुझाने के लिए 12 उड़ानें भरीं।

जंगल की आग बूझाने लगातार हेलीकॉप्टर की उड़ानें

उन्होंने कहा कि नगालैंड पुलिस, वन विभाग, एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें

आग बुझाने के काम में लगी हुई हैं। वन अधिकारी ने कहा कि पायलटों के अनुसार आग

फिलहाल नियंत्रण में है और इसे दजुको घाटी में आगे फैलने से रोकने का प्रयास किया जा

रहा है। घटनास्थल पर निर्बाध संचार व्यवस्था बनाए रखने के लिए कोहिमा पुलिस ने

विस्वेमा गांव में कंट्रोल रूम बनाया है।जनसंपर्क अधिकारी (रक्षा) कोहिमा, लेफ्टिनेंट

कर्नल सुमित के. शर्मा ने कहा, ‘राज्य सरकार की मांग के आधार पर कोहिमा के समीप

वायुसेना के एमआइ-15वी5 हेलीकाप्टर का इस्तेमाल किया गया। आग बुझाने के लिए

यह हेलीकाप्टर बांबी बकेट से लैस था।’ उन्होंने कहा कि अभी भी यह अभियान जारी है।

कई जगह आग लगी है। कब तक पूरी तरह आग पर काबू पाया जा सकेगा यह नहीं कहा

जा सकता।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from नगालैंंडMore posts in नगालैंंड »
More from पर्यावरणMore posts in पर्यावरण »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »

One Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: