fbpx Press "Enter" to skip to content

भारत भूटान सीमा पर पंजानी जगल में सेना और असम पुलिस का अभियान

  • फिर से भारी मात्रा में हथियार बरामद एक गिरफ्तार

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी : भारत भूटान की सीमा पर सुरक्षा बलों की कड़ी नजरदारी का बेहतर परिणाम

निकला है। स्वतंत्रता दिवस से पहले असम से लगती भारत-भूटान सीमा पर स्थित 

कोकराझार जिले के लिओपानी नाला , पंजानी जंगल क्षेत्र और उलटापानी नाला में

सुरक्षाबलों ने पुलिस के साथ संयुक्त अभियान चलाकर भारी मात्रा में हथियार और

गोलाबारूद बरामद किया है। असम पुलिस ने बताया कि असम कोकराझार जिले में

पुलिस प्रशासन ने आज तुलसीबिल पुलिस चौकी के तहत पंजानी जंगल क्षेत्र से हथियारों

और गोला-बारूद का एक बड़ा जखीरा बरामद किया। अवैध हथियारों और गोला-बारूद के

बारे में एक विशेष इनपुट के आधार पर, पुलिस के पास रिकॉर्डिंग, तुलसीबिल क्षेत्र और

पंजानी जंगल क्षेत्र में छिपी हुई थी, तुलसीबिल पुलिस चौकी के तहत पनिजनी भाग II के

जंगल क्षेत्र में एक तलाशी अभियान शुरू किया गया और ऑपरेशन के दौरान हथियारों

और गोला-बारूद की एक बड़ी मात्रा में बरामद किया गया और जब्त किया गया।

भारत भूटान सीमा की छापामारी में कोई गिरफ्तारी नहीं

ऑपरेशन टीम अतिरिक्त एसपी (मुख्यालय) कोकराझार मुकुट राभा, लटुक दास

(टीएसआई) और तुलसीबिल चौकी के प्रभारी पार्थ प्रतिम बिस्वास और कर्मचारियों के

नेतृत्व में की गई। इस संबंध में किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया।इस दौरान दो

एके-56, एक एम79 ग्रेनेड लॉन्चर, एक .22 रायफल, 11 देसी रायफल,एक .22 पिस्टल, दो

7.65 एमएम पिस्टल, एक 9 एमएम पिस्टल, तीन देसी पिस्टल, एके -56 की 11 मैगजीन,

एम-16 की दो मैगजीन, .22 रायफल की की एक मैगजीन, .22 पिस्टल की दो मैगजीन,

9एमएम की दस मैगजीन, 7.65 एमएम की छह मैगजीन और देसी पिस्टल की चार

मैगजीन व दो ग्रेनेड बरामद किए।

इसके अलावा एक सैटेलाइट फोन, दस .36 ग्रेनेड, छह चीन में निर्मित ग्रेनेड, देश में बने दो

ग्रेनेड, 34 इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, आठ फ्यूज ग्रेनेड आदि भी मौके से जब्त किया गया। यह

उल्लेख करना महत्वपूर्ण है कि बोड़ोलैंड टेरिटोरियल काउंसिल (बीटीसी) का आने वाले

दिनों में चुनाव होने जा रहा है। बीटीसी का कार्यकाल समाप्त होने के बाद इलाके में

राज्यपाल शासन लागू है। चुनावों के मद्देनजर पुलिस प्रशासन बीटीसी के चारों जिला

कोकराझार, उदालगुरी, बाक्सा व चिरांग जिलों में अवैध हथियारों के विरूद्ध एक अभियान

आरंभ किया है।हालांकि, इस संबंध में किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। हथियारों

को बांस के खांचे के नीचे जमीन में गाड़कर रखा गया था। पुलिस मामले की जांच में जुटी

हुई है। हालांकि, यह पता नहीं चल सका है कि हथियार किस उग्रवादी गुट ने छुपाया था।

किस गुट ने हथियार छिपाये थे, उसकी जांच चल रही

इससे पहले भी बीटीसी के चिरांग व उदालगुड़ी जिलों में भारी मात्रा में हथियार व गोला-

बारूद बरामद हो चुके हैं। दूसरी ओर, आज सुबह करीब 2 बजे एक विशिष्ट स्रोत इनपुट के

आधार पर, असम पुलिस ने दरंग जिले के मजबत पुलिस स्टेशन के तहत धुन्सेरी टी

गार्डन 10 नो बस्ती (पहाड़पुर) में तलाशी और छापेमारी अभियान चलाया।यह अभियान

में बेंजामिन मुर्मू का निवास पर 3 हाथ से बनी राइफल 3 आयरन पाइप ,1 हैण्ड एयर

ब्लोअर ,3 , आरी , 1 आयरन प्लेयर ,1 आयरन फिलर ,1 आयरन शार्पनर ,1 आयरन

हैमर ,1 हैंड ड्रिलिंग मशीन ,14 लोहे के टुकड़े उसके निवास से बरामद किया गया है। जिसे

रसोई के कमरे में छुपाया गया था। तदनुसार जब्त कर लिया और बेंजामिन मुर्मू नाम के

व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from आतंकवादMore posts in आतंकवाद »
More from उत्तर पूर्वMore posts in उत्तर पूर्व »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!