Press "Enter" to skip to content

मोदी से पंजाब कृषि और क्षेत्रीय को पैकेज देने की अपील







चंडीगढ़ पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश बादल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया है कि श्री मोदी अपने पंजाब दौरे के समय पटरी से उतरी राज्य की अर्थव्यवस्था को दुरूस्त करने के लिये पैकेज की घोषणा करें ताकि लोगों में आपके प्रति सम्मान और विश्वसनीयता बढ़े ।

उन्होंने कहा कि श्री मोदी बेअदबी की घटनाओं के पीछे की साजिश को बेनकाब करने और लोगों के समक्ष पेश आ रहे राजनीतिक , धार्मिक और आर्थिक मुददों को सुलझाने के लिए ठोस कदम उठायें क्योंकि देरी से रही अपने पंजाब दौरे के समय अनुकूल माहौल तैयार करें। श्री बादल ने आज यहां कहा कि प्रधानमंत्री यदि कोई पैकेज की पंजाब दौरे के समय घोषणा करते हैं तो वो उनको विश्वसनीयता और सम्मान देगा।

प्रधानमंत्री के रूप में यदि आप पहले पंजाबियों की मांगों को पूरा करने के लिए आर्थिक, राजनीति , कृषि और क्षेत्रीय पैकेज की घोषणा करते हैं तो आप मेरी प्रशंसा और व्यक्तिगत कृतज्ञता अर्जित करेंगें। उन्होंने कहा कि 1984 के दंगों के पीड़ति न्याय की प्रतीक्षा कर रहे हैं ।

श्री मोदी का दौरा वास्तव में तब सार्थक होगा जब वो पिछली कांग्रेस सरकार ने दिए लोगों के घावों पर मरहम लगाएगा। उन्होंने प्रधानमंत्री के पंजाब आगमन की पूर्व संध्या पर देश के लिए भोजन , रक्षा करना जैसे दायित्वों की याद दिलाने के लिए अनुरोध किया ।

मोदी कृषि और क्षेत्रीय पैकेज की घोषणा करते

मोदी कृषि और क्षेत्रीय पैकेज की घोषणा करते पूर्व मुख्यमंत्री ने पंजाब के किसानों को इस संकट से बाहर निकालने के लिए बड़े कृषि पैकेज की भी मांग की ,क्योंकि कर्जा लेने के कारण किसान कर्जें में डूब गए हैं। प्रधानमंत्री का पंजाब दौरा हमेशा स्वागत योग्य कदम है लेकिन चुनाव के करीब होने के कारण यह सही नहीं लग रहा ।

यदि आप लोगों की इन समस्याओं को हल कर देतें हैं और बेअदबी की घटनाओं के पीछे की साजिश और लोगों के मुददों को हल करने के लिए सुप्रीम कोर्ट के एक मौजूदा न्यायाधीश द्वारा जांच जैसे कदमों की घोषणा करते हैं

तो यही दौरा कई मायने में अहम होगा। श्री बादल ने प्रधानमंत्री से चंडीगढ़ और अन्य पंजाबी भाषा क्षेत्रों के हस्तातंरण और रिपेरियन सिद्धांत के साथ नदी के पानी के मुददे के समाधान सहित उनकी अन्य लंबे समय से चल रही प्रमुख मांगों के समाधान और पंजाबियों की अपेक्षाओं पर ध्यान देने की अपील की।

उन्होंने कहा कि इन किसान आंदोलन के दौरान जिन किसानों की मौत हुई उनके परिवारों की मदद के लिए केन्द्र कोई उपाय करे। यह विशेष रूप से महत्वपूर्ण है क्योंकि केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए कानूनों के विरोध में ये बलिदान दिए गए थे और सरकार ने इन कानूनों को रदद करने की सलाह को स्वीकार किया है। उन्होंने कहा कि पंजाब के लोग प्रधानमंत्री का सच्चा और सौहार्द्रपूर्ण स्वागत करेंगें यदि वह उनकी समस्याओं को संबोधित करने और समाधान करने के लिए एक वास्तविक इच्छा दिखाते हैं , क्योंकि ऐसा केवल एक प्रधानमंत्री ही कर सकता है।



One Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: