Press "Enter" to skip to content

पूरे राज्य में अतिक्रमण हटाओ अभियान जारी रहेगाः मुख्यमंत्री, देखें वीडियो




पूर्वोत्तर संवाददाता

गुवाहाटी : पूरे राज्य में अतिक्रमण हटाओ अभियान जारी रखने का एलान खुद मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने कर दिया है। असम के दर्रांग जिले में स्थित सिपझार में गुरुवार को हुई अतिक्रमण हटाने के दौरान हुई हिंसा को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने शुक्रवार को प्रतिक्रिया दी।




उन्होंने कहा कि सिपाझार और पूरे असम में अतिक्रमण हटाने का अभियान अब भी जारी रहेगा, सरमा ने कहा कि हमें इसे जारी रखना होगा। हम बिना आधार के 30-40 एकड़ जमीन आवंटित नहीं कर सकते, बाकी लोग कहां जाएंगे? लेकिन हां, इसे लेकर मैं उनके साथ एक बार फिर बातचीत करूंगा।

देखिये वीडियो ( यह हिंसक किस्म का है, अपने विवेक से देखें)

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि लोगों को एक स्थान से हटाने के काम में पुलिस को शामिल करना महत्वपूर्ण नहीं है, बातचीत से भी मदद मिलती है। मुख्यमंत्री सरमा ने कहा कि इस अभियान के लिए चार महीने से विचार-विमर्श किया जा रहा था।

इसे लेकर कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुझसे मुलाकात की थी और ऐसे लोगों को भूमि आवंटित करने को लेकर सहमति जताई थी जिनके पास कोई जमीन नहीं है। 27 हजार एकड़ जमीन का हमें उत्पादक उपयोग करना है।




मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि वहां पर एक मंदिर था लेकिन उस पर भी अतिक्रमण कर लिया गया था। इसके अलावा इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया था। इस वीडियो में एक कैमरामैन इस दौरान मारे गए एक व्यक्ति के शव को उछल-उछल कर लात मारता दिख रहा है।

पूरे राज्य में अतिक्रमण हटाने के साथ साथ मामलों की जांच की बात कही

इसे लेकर मुख्यमंत्री सरमा ने कहा कि हम इसकी जांच करेंगे कि कैमरामैन घटनास्थल पर कैसे पहुंचा और क्यों उसने एक निश्चित व्यक्ति पर हावी करने की कोशिश क्यों की। बता दें कि उक्त कैमरामैन को गिरफ्तार कर लिया गया है।

सरमा ने कहा कि आप एक वीडियो से सरकार को बदनाम नहीं कर सकते। दूसरी ओर , असम के सिपाझर में असम बेदखल अभियान में पुलिस स्थानिय लोगों के बीच हुई झड़प के कारण जिला मजिस्ट्रेट प्रभाती थाओसेन ने दरांग जिले के अंतर्गत सिपाझर राजस्व मंडल के ढालपुर क्षेत्र में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी है।

आदेश में जिलाधिकारी ने कहा कि दरांग के सिपाझार थाना क्षेत्र के ग्राम नंबर एक ढालपुर, नंबर 2 ढालपुर और नंबर 3 ढालपुर और उनके आसपास के क्षेत्रों में मौजूदा स्थिति के अनुसार सार्वजनिक शांति भंग होने की पूरी संभावना है। आदेश के अनुसार किसी भी जुलूस/प्रदर्शन/सार्वजनिक मार्ग में नाकाबंदी पर रोक लगा दी गई है।

संबंधित प्राधिकरण की अनुमति के बिना सार्वजनिक स्थानों पर पांच या अधिक व्यक्तियों के एकत्रित होने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। सार्वजनिक शांति और शांति भंग को रोकने के लिए प्रशासन जुलूस/बैठक/विरोध सभा/धरना/रैलियां जो सांप्रदायिक तनाव पैदा कर सकती हैं, को भी प्रतिबंधित करता है।



More from असमMore posts in असम »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: