fbpx

सीएए विरोधी आंदोलन में शामिल विधायक अखिल गोगोई को कोर्ट ने किया बरी

सीएए विरोधी आंदोलन में शामिल विधायक अखिल गोगोई को कोर्ट ने किया बरी
  • राष्ट्रीय खबर

गुवाहाटी : सीएए विरोधी आंदोलन की वजह से जेल में बंद असम के नेता विधायक

अखिल गोगोई को राष्ट्रीय जांच एजेंसी कोर्ट से राहत मिली है। यूएपीए के तहत सीएए

विरोधी प्रदर्शनों में शामिल होने के मामले में गोगोई को कोर्ट ने बरी कर दिया है। गुवाहाटी

में राष्ट्रीय जांच एजेंसी की एक अदालत ने यह फैसला सुनाया है। गोगोई दिसंबर 2019 से

विभिन्न मामलों में जेल में बंद हैं। बीते साल ही उन्होंने रायजोर दल की स्थापना की थी

और शिबसागर विधानसभा सीट से हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में उतरे थे। हिरासत

में रहने के बावजूद वह चुनाव जीत गए थे। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने अखिल गोगोई के

खिलाफ दो केस दायर किए थे। आज एनआईए कोर्ट ने अखिल गोगोई को छाबुआ थाने में

दर्ज मामले में गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत सभी आरोपों से मुक्त

कर दिया। अप्रैल में, उन्हें इस मामले में बरी कर दिया गया था, लेकिन केंद्रीय एजेंसी ने

फिर से अपील की थी। गोगोई पर लगभग 600 लोगों की भीड़ का नेतृत्व करने का आरोप

लगाने के बाद मामला दर्ज किया गया था, जिसके कारण “आर्थिक नाकाबंदी”, “पत्थर

फेंकना” और “ड्यूटी पर एक पुलिसकर्मी” की हत्या हुई थी। हालांकि, उन्हें न्यायिक

हिरासत में रहना होगा क्योंकि एक अन्य मामला भी एनआईए द्वारा लिया गया था, जो

अभी भी लंबित है।

सीएए विरोधी आंदोलन के अगुवा जेल से विधायक बने

सीएए-विरोध के दौरान, अखिल गोगोई ने अधिनियम के विरोध में 61 से अधिक संगठनों

के एक समूह का नेतृत्व किया था। हिंसक प्रदर्शनों के बाद पूरे असम (सिबसागर, डिब्रूगढ़,

गौरीसागर, टीओक, जोरहाट) में उनके खिलाफ कई मामले दर्ज किए गए थे।उल्लेखनीय

है कि कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद गोगोई का गुवाहाटी चिकित्सा

महाविद्यालय एवं अस्पताल में इलाज चल रहा है। किसानों के संगठन कृषक मुक्ति

संग्राम समिति (केएमएसएस) ने मंगलवार को अपने नेता अखिल गोगोई को रिहा करने

और विवादित संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को वापस लेने की मांग करते हुए

समूचे असम में प्रदर्शन किया। संगठन के सदस्यों ने गुवाहाटी में निषेधाज्ञा का उल्लंघन

किया, जिस वजह से उन्हें गिरफ्तार किया गया। वहीं, अन्य स्थानों पर उन्होंने अपनी

मांगों के समर्थन में मानव श्रृंखला और कलाकृतियां बनाई। असम की राजधानी में

केएमएसएस समर्थकों ने धारा-144 का उल्लंघन कर मानव श्रृंखला बनाई और नारेबाजी

की तथा गोगोई की रिहाई और सीएए को वापस लेने की मांग की।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Rkhabar

Rkhabar

2 thoughts on “सीएए विरोधी आंदोलन में शामिल विधायक अखिल गोगोई को कोर्ट ने किया बरी

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: