fbpx Press "Enter" to skip to content

एक और निर्भया कांड के खिलाफ मुखर हुई स्थानीय महिलाएं

  • युवती की मौत के लिए सैनिक के खिलाफ आक्रोश

  • हत्या के आरोप में सेना का जवान गिरफ्तार

  • मृतका इंटर कॉलेज सिसई की छात्रा थी

  • दस साल तक झांसा देकर किया शोषण

संवाददाता

लापुंग : एक और निर्भया कांड ने आज लापुंग को फिर से आंदोलित कर दिया है। लापुंग

थाना क्षेत्र के कोयनारा गांव की बेटी निर्भया बुधन कुमारी की हत्या के बाद सोमवार को

कोयनारा गांव की महिलाओं और पुरुषों ने हत्यारे आर्मी के जवान को फांसी देने की मांग

की है । गांव में आक्रोशित लोगों ने हुंकार भरते हुए प्रदर्शन कर बुधन कुमारी को इंसाफ

देने की मांग की । उल्लेखनीय है कि कोयनारा गांव के महतो मुंडा और लुपी देवी दंपति की

बेटी और नाबालिग बेटी बुधन कुमारी के साथ शादी का झांसा देकर 10 वर्षों तक यौन

शोषण करने के बाद पिछले 10 अगस्त को उसे मार डाला । इसके खिलाफ गांव वालों ने

एकजुट होकर नारेबाजी की और बुधन को न्याय देने की मांग की । मृतका बुधन के पिता

महतो मुंडा ने कहा कि हमारे पूरे परिवार को इंसाफ चाहिए । उन्होंने कहा कि पिछले 10

वर्षों तक उसकी बेटी को शादी का प्रलोभन देकर झांसे में रखकर उसके गांव के परदेशिया

उरांव ने जब जब मौका मिला होटलों में बुलाकर शारीरिक शोषण करता रहा । उसकी बेटी

भोली-भाली थी उसकी चिकनी चुपड़ी बातों में आकर अपना सर्वस्व लुटाती रही और अब

जब उसका मन भर गया और उसने किसी दूसरे से शादी करने का प्लानिंग बनाकर उसकी

बेटी को रास्ते से हटाने के लिए उसे मार डाला । मृतका के बड़े भाई उमेश मुण्डा ने कहा कि

उसकी बहन बीएन जालान कॉलेज सिसई में इंटर की छात्रा थी । उसके पिता ने अपनी बेटी

की शादी बहुत ही धूमधाम से करने का सपना देखा था । लेकिन कोर्ट मैरिज करने के जाने

के लिए बहाने बनाकर आर्मी के जवान परदेसिया उरांव ने पिछले 8 अगस्त को फोन कर

उसकी बहन को 9  अगस्त को लापुंग बुलाया लेकिन वह खुद 9 अगस्त को नहीं आया।

एक और निर्भया कांड सैनमारी टोंगरी जंगल में

उसकी बहन लापुंग के कोचेया टोली में परदेसिया के इंतजार में अपनी सहेली के यहां रुक

गई । 10 अगस्त को परदेसिया ने उसे फिर बुलाया और सापुकेरा बाजार टांड़ से बहला

पुसला कर बाइक में बैठा कर रांची जाने के बहाने बुधन को लापुंग थाना क्षेत्र के सैनमारा

टोंगरी जंगल ले गया और षड्यंत्र के तहत सुनसान इलाके में पत्थर से कूच कर उसकी

नृशंस हत्या कर दी । इस घटना से पूरे कोयनारा गांव समेत अन्य इलाकों में भी भारी

आक्रोश व्याप्त हो गया । हालांकि लापुंग पुलिस ने बुधन के हत्यारे आर्मी का जवान

परदेसिया उरांव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया । लेकिन गांव वाले उसे फांसी की सजा

देने की मांग करते हुए सोमवार को जमकर प्रदर्शन किया । इस दौरान मुख्य रूप से

सोमारी देवी, सुनील मुंडा, सुनीता कुमारी, दीपा कुजूर, मंजू कुमारी, सुमन मुंडाईन, मंगरी

मुंडाईन, चिंतामणि देवी, किरण देवी, चरण मुंडा जेना मुंडा, धुचला  मुंडा बिधन मुंडाईन

समेत कई लोगों ने प्रदर्शन में हिस्सा लिया


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from महिलाMore posts in महिला »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

One Comment

Leave a Reply