fbpx Press "Enter" to skip to content

कोरोना से बांग्लादेश का बहुत बुरा हाल, लॉकडाउन का विरोध

  • अमीनूल हक

ढाकाः कोरोना से बांग्लादेश का बहुत बुरा हाल हो चुका है। एक दिन में 57 लोगों की मौत

के बाद पूरे देश में संक्रमितों का आंकड़ा आबादी के 23.7 प्रतिशत तक पहुंच गया है।

सरकार द्वारा बांग्लादेश में लगाये गये ल़कडाउन का लोग विरोध कर रहे हैं। गत शनिवार

को ही पूरे देश में कोरोना संक्रमण को और फैलने से रोकने के लिए प्रतिबंध लगाये गये हैं।

रविवार इसकी सूचना जारी कर दिये जाने के बाद यह पता चला है कि पांच अप्रैल से सुबह

छह बजे से रात 12 बजे तक सब कुछ बंद रहेगा। इसमें सिर्फ आवश्यक सेवाओं को छूट दी

गयी है। बता दें कि इससे पूर्व पिछले साल 26 मार्च से लगातार 66 दिनों का लॉकडाउन देश

में लगा था। आज इस लॉकडाउन का एलान होने के बाद ढाका में कारोबारियों ने सड़क पर

आकर इस फैसले का विरोध किया। ढाका के बड़े व्यापारिक इलाका मोतिझील कंप्यूटर

सोसायटी के लोग सड़कों पर आकर प्रदर्शन भी करने लगे। इस सोसायची के अध्यक्ष

अमीनूल हक ने कहा कि बीते साल की वजह से ही सारे कारोबारी कर्ज में डूबे हुए हैं। एक

लंबे लॉकडाउन की वजह से पूरा कारोबार ही बैठ गया था। अब जैसे इसमें गति पाने की

उम्मीद हुई है तो सरकार ने फिर से सारे कारोबारियों को फिर से सड़क पर लान का फैसला

लाद दिया है। इस बार के लॉकडाउन से फिर से अकेले ढाका के करीब डेढ़ लाख लोग

बेरोजगार हो जाएंगे। इसी तरह ढाका के न्यू मार्केट इलाके में भी हजारों लोगों ने सड़कों पर

आकर सरकार के इस फैसले के खिलाफ प्रदर्शन किया।

कोरोना से बांग्लादेश में लॉकडाउन की चर्चा होते अनेक लोग घर गये

शनिवार को ही दोबारा लॉकडाउन लगाने का एलान होने की चर्चा होते ही अनेक लोग उसी

रात अपने अपने घरों को लौट गये हैं। जिसकी वजह से ढाका रेलवे स्टेशन और बस अड्डों

के साथ साथ नाव परिवहन में भी भारी भीड़ लगी हुई है। इस मौके पर सवारी ढोने वाली

सारी व्यवस्थाओं ने भी किराया दोगुना कर दिया था। ढाका के तीनों बस अड्डे सायराबाद,

गाबताली और महाखाली में लोगों की भीड़ उमडी हुई है। इसके अलावा सदरघाट के नौ

परिवहन में भी हजारों लोग नाव से अपने घरों को लौट रहे हैं। दूसरी तरफ स्वास्थ्य

मंत्रालय ने बताया है कि एक दिन में तीस हजार 724 नमूनों की जांच में सात हजार 87

लोग कोरोना से पीड़ित पाये गये हैं। इससे समझा जा सकता है कि हालत कितने बिगड़

चुके हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बांग्लादेशMore posts in बांग्लादेश »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: