fbpx Press "Enter" to skip to content

अनिल देशमुख पर पूर्व पुलिस कमिशन के आरोप पर राजनीति गरमायी

  • शरद पवार ने कहा आरोपों की जांच होनी चाहिए

  • मंत्री ने कहा परमवीर सिंह पर मुकदमा दायर करेंगे

  • परमवीर सिंह ने कहा सौ करोड़ वसूली को कहा था

  • पद से हटाये जाने के बाद सीएम को ईमेल भेजा

विशेष प्रतिनिधि

मुंबईः अनिल देशमुख पर मुंबई के पूर्व पुलिस कमिशनर के गंभीर आरोप पर एनसीपी

नेता शरद पवार का बयान आया है। उनके बयान से इस मुद्दे पर राजनीति चहलपहल तेज

हुई है। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर पूर्व पुलिस कमिशनर परमवीर सिंह के

आरोपों पर राजनीति गरमा गयी है। इस मुद्दे को गंभीर तब माना गया जब एनसीपी

अध्यक्ष शरद पवार ने इस मामले में कहा कि आरोप लगाने वाले अधिकारी को इस मामले

की जांच की मांग करनी चाहिए। परमवीर सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री शरद पवार को

एक ईमेल भेजकर अनिल देशमुख पर यह आरोप लगाया है कि वह घूस की मांग किया

करते थे। वैसे शरद पवार ने इस पूरे मामले की जांच मुंबई के पूर्व पुलिस प्रमुख और कई

प्रमुख जिम्मेदारी संभाल चुके सेवानिवृत्त अधिकारी जुलिअस रिबेरो से कराने का सुझाव

भी दिया है। उनके मुताबिक श्री रिबेरो, मुंबई के पुलिस प्रमुख होने के अलावा गुजरात और

पंजाब पुलिस के भी प्रमुख रह चुके हैं तथा बाद में उन्हें रोमानिया में भारत का राजदूत

भी बनाया गया था। श्री पवार ने कहा कि श्री रिबेरो की निष्ठा पर किसी को संदेह नहीं है।

इसलिए इतने गंभीर मामले की जांच ऐसे ही किसी व्यक्ति से कराया जाना चाहिए। मुंबई

पुलिस के प्रमुख ने अपने पद से हटाये जाने के बाद यह गंभीर आरोप लगाया है। दूसरी

तरफ इस बारे में खुद श्री रिबेरो ने स्पष्ट कर दिया कि उनके पास किसी जांच का कोई

प्रस्ताव अब तक तो नहीं आया है। वैसे अगर ऐसा कोई प्रस्ताव आया भी तो उम्र के इस

पड़ाव में ऐसा कर पाना मेरे लिए संभव नही होगा।

अनिल देशमुख मामले में पवार ने दिल्ली में बयान दिया

उधर दिल्ली में पत्रकारों से बात करते हुए एनसीपी प्रमुख ने कहा कि श्री सिंह के आरोप

काफी गंभीर हैं लेकिन जिस मौके पर उन्होंने यह आरोप लगाया है वह साक्ष्य के लिहाज से

कमजोर है। पद पर रहते हुए अगर वह ऐसा आरोप लगाते तो उसकी गहराई समझ में

आती। पद से हटाये जाने के बाद ऐसे आरोपों की सच्चाई सिर्फ जांच से ही सामने आ

सकती है।

बताते चलें कि परमवीर सिंह का आरोप है कि गृह मंत्री अनिल देशमुख ने यह निर्देश दिया

था कि पुलिस उनके लिए एक सौ करोड़ रुपया वसूल करे। परमवीर सिंह के बारे में उन्होंने

कहा कि जिस पुलिस अधिकारी बाजे को लेकर विवाद उत्पन्न हुआ है, उसे भी परमवीर

सिंह ने ही महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां सौंपी थी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from महाराष्ट्रMore posts in महाराष्ट्र »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: