Press "Enter" to skip to content

भारतवर्ष में खुद को दिवालिया बताने वाले अनिल अंबानी की विदेशी संपत्ति उजागर




अदालतों में अपनी आर्थिक हैसियत पर गलतबयानी
लंदन की अदालत में भी दे चुके है ऐसी जानकारी
अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पत्रकारों ने खोजा इसे
अनिल की कंपनी की तरफ से सफाई
राष्ट्रीय खबर

नईदिल्लीः भारतवर्ष में खुद को अनिल अंबानी ने लगभग दिवालिया घोषित कर रखा है। दरअसल कई कंपनियों के साथ लेन देन के विवाद में उन्होंने यह दलील दी है कि अब व्यापार में घाटा होने की वजह से उनके पास देश विदेश में और कोई संपत्ति नही बची है।




उनका यह दावा अब पैंडोरा बॉक्स के खुलासे में गलत साबित हो रहा है। इस बार की खोजपूर्ण पत्रकारिता में यह पता चला है कि दरअसल अनिल अंबानी के पास विदेश में काफी संपत्ति है, जिसके बारे में वह अब तक गोपनीयता बरतते रहे हैं।

ब्रिटेन की एक अदालत में एक चीन के कर्जदाता के साथ जारी मुकदमे भी भी अनिल अंबानी ने अपने पास पैसा नहीं होने की दलील दी है।

अब भले ही भारत में उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो लेकिन विदेशों में जिस तरीके से पैंडोरा बॉक्स से मामला गरमाया है, उससे प्रतीत होता है कि अनिल अंबानी फिर से नये विवाद में उलझने जा रहे हैं।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर साढ़े छह से अधिक पत्रकारों के एक दल ने मिलकर पूरी दुनिया से इस किस्म की अघोषित आय और कर चोरी के अनेक मामलों को उजागर किया है। इस किस्म की अघोषित संपत्ति रखने वालों की सूची में तीन सौ के करीब भारतीय भी हैं।

इनमें अनिल अंबानी की चर्चा इसलिए अधिक हो रहा है क्योंकि उन्हें कर्ज चुकाने में असमर्थता व्यक्त की है।




पत्रकारों की वैश्विक जांच का नतीजा है कि अनिल अंबानी के पास विदेसों में करीब 18 ऐसी कंपनियां हैं जो न्यूजर्सी, ब्रिटिश वर्जिनिया द्वीप और साइप्रस से संचालित होती हैं।

भारतवर्ष में खुद के बारे में गलत जानकारी दी है

इन सभी कंपनियों के साथ अनिल अंबानी का प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष संबंध है। इनमें से सात कंपनियों ने अनिल अंबानी वाले रिलायंस समूह द्वारा दी गयी बैंक गारंटी के आधार पर बैंकों से कर्ज भी ले रखा है।

इन कंपनियों से यह धन किसी और कंपनी में चला गया है। यह भी फर्जी कंपनियों की मदद से धन की हेराफेरी का मामला है।

मामला प्रकाश में आने के बाद अनिल अंबानी के वकील की तरफ से एक विज्ञप्ति जारी की गयी है। जिसमें बताया गया है कि कंपनी ने लंदन की अदालत में सारे मामलों की जानकारी दी है।

दूसरी तरफ कंपनियों के नाम भी उजागर होने के बाद अनिल अंबानी द्वारा दिया गया वह पूर्व बयान संदेहे के घेरे में आ गया है, जिसमें उन्होंने अपने पास अब कोई पैसा नहीं होने की बात कही है।



More from अदालतMore posts in अदालत »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: