Press "Enter" to skip to content

हांगकांग में एमनेस्टी इंटरनेशनल ने पुलिस की भूमिका की निंदा की




हांगकांगः हांगकांग में एमनेस्टी इंटरनेशनल हांगकांग ने हाल में यहां हुई रैली के दौरान प्रदर्शनकारियों को

खदेड़ने के लिए हिंसक रणनीति (जिसमें मुख्य रूप से आंसू गैस के गोले और रबर की गोलियों का

प्रयोग करने ) अपनाने को लेकर पुलिस की निंदा की है।

हांगकांग में विवादास्पद प्रत्यर्पण विधेय को 10 सप्ताह से हो रहे प्रदर्शन के दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झड़पों में कई लोग घायल हुए हैं।

मानवाधिकार समूह के निदेशक मैन केई टैम ने कहा, ‘‘हांगकांग पुलिस ने एक बार फिर इस तरह से

आंसू गैस के गोलों और रबर की गोलियों का इस्तेमाल किया है, जैसे अंतरराष्ट्रीय मानकों की कमी हो गयी हो।

सीमित क्षेत्र में इकट्ठा हुए लोगों पर गोलीबारी करने, वह भी ऐसे समय में जब उनके पास पीछे हटने समय कम हो को सही नहीं ठहराया जा सकता है।

यह भीड़ को तितर-बितर करने के कथित उद्देश्य के खिलाफ जाता है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हांगकांग पुलिस ने एक बार फिर साबित किया है कि वह लोगों की सुरक्षा करने में विफल है।

कानून प्रवर्तन के अधिकारियों को जनता की सुरक्षा के लिए अपने कर्तव्य को पूरा करने में सक्षम होना चाहिए।

पुलिस को हिंसा के लिए निर्देशित करना अंतरराष्ट्रीय पुलिसिंग मानकों के खिलाफ है।’’

हांगकांग में एमनेस्टी इंटरनेशनल का बयान हिंसा के बीच

हांगकांग में इनदिनों चीन के हस्तक्षेप की वजह से स्थिति बिगड़ी हुई है।

प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच अक्सर झड़पें होती रहती हैं।

स्थानीय लोगों का आरोप है कि चीन यहां के प्रत्यर्पण कानून में संशोधन कर यहां की स्थिति को अपने पक्ष में करने की कोशिश कर रहा है।

अनेक चीनी महिलाएं अपने बच्चे को जन्म देने के लिए हांगकांग आ रही हैं।

इससे आने वाले दिनों में हांगकांग की आबादी का संतुलन चीन के पक्ष में करने की साजिश भी चल रही है।

इन्हीं मुद्दों पर स्थिति धीरे धीरे विस्फोटक होती चली जा रही है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
More from Hindi NewsMore posts in Hindi News »