Press "Enter" to skip to content

दो राज्यों के विधानसभा चुनाव के लिए अमित शाह ने नई चाल चली

  • कोच-राजबंशी “महाराज” अनंत राय से की

  • चुनाव के लिए उनसे किया सहायता का अनुरोध

  • इस परिवार का दोनों राज्यों में जबर्दस्त प्रभाव है

  • कोच-राजबंशी समुदाय को दिया एक बेहतरीन तोहफा

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी : दो राज्यों में विधानसभा का चुनाव होने जा रहाहै। इस पर अमित शाह ने नई

चाल चली है। असम और पश्चिम बंगाल में होने वाले आगामी चुनावों को ध्यान में रखते

हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज सुबह असम के चिरांग जिले में कोच-राजबंशी

परिवार के प्रमुख अनंत राय ‘महाराज’ के आवास का दौरा किया । अनंत राय इस

कोच- राजबंशी परिवार प्रमुख हैं।गृहमंत्री शाह से मुलाकात के बाद कोच रॉयल वंशज 

कोच- राजबंशी परिवार के प्रमुख अनंत राय ‘महाराज’ ने असम और पश्चिम बंगाल

में कोच- राजबंशी समुदाय को अनुसूचित जनजाति का दर्जा देने के संकेत दिए हैं। गृह मंत्री

अमित शाह ने कोच-राजबंशी समुदाय के लोगों की लंबित सभी मांगों को गुरुवार को 

स्वीकार कर लिया। शाह ने असम-पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनावों के

मद्देनजर आज असम के चिरांग जिले के सतीपुर में कोच-राजबंशी समुदाय के नेता अनंत

राय ‘महाराज’ से उनके आवास पर करीब एक घंटे तक बातचीत की। असम के एक

वरिष्ठ भाजपा अधिकारी ने कहा है कि कोच-राजबंशी “महाराज” से मिलकर गृह मंत्री

अमित शाह ने असम और पश्चिम बंगाल के कोच-राजबंशी समुदाय से भाजपा को

सहायता देने का अनुरोध किया है। भाजपा को सहायता देने के परिणामस्वरूप, भाजपा

सरकार सिर्फ वह सब कुछ देने के लिए तैयार हो गई है जो कोच-राजबंशी समुदाय मांगेगा।

दो राज्यों में उनके 18 लाख से ज्यादा समर्थक 

राय की असम और पश्चिम बंगाल में लोगों के बीच काफी लोकप्रियता हैं और दावा किया

गया हे कि इन दो राज्यों में उनके 18 लाख से अधिक समर्थक हैं। शाह कल रात गुवाहाटी

पहुंचे और असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल और अन्य ने हवाई अड्डे पर उनका

स्वागत किया। राय ने गृह मंत्री के साथ बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि शाह के

साथ विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई और उन्होंने कोच-राजबंशी समुदाय के लोगों की सभी

लंबित मांगें मान ली है। उन्होंने कहा, अब मैं यह कह सकता हूं कि कोच-राजबंशी समुदाय

के लिए अच्छे दिन आ रहे हैं। हमारा लंबा इंतजार जल्द ही समाप्त हो जाएगा। शाह राय

से मुलाकात के बाद पश्चिम बंगाल के लिए रवाना हो गये। गृह मंत्री अमित शाह की कोच-

राजबंशी परिवार की प्रमुख अनिता राय के आवास पर यात्रा का बहुत महत्व है, विशेष रूप

से असम और पश्चिम बंगाल में होने वाले चुनावों को ध्यान में रखते हुए । विशेष रूप से,

अनंत राय ‘महाराज’ , कूच बिहार के स्वयंभू राजा और शाही कोच राजबंशी परिवार के

वंशज हैं । कोच-राजबंशी समुदाय की निचले असम और उससे सटे पश्चिम बंगाल में

काफी आबादी है। असम में कोच-राजबंशी समुदाय 5 अन्य जातीय समुदायों-ताई अहोम,

चुटिया, मारन, मटक और आदिवासी के साथ लंबे समय से अनुसूचित जनजाति का दर्जा

मांग रहे हैं ।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from असमMore posts in असम »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पश्चिम बंगालMore posts in पश्चिम बंगाल »

One Comment

... ... ...
Exit mobile version