fbpx Press "Enter" to skip to content

कोरोना संकट के बीच नई घटना से स्थानीय निवासी हैरान

  • रातों रात गुलाबी हो गया प्रसिद्ध लोनार झील
वी शिव कुमार

मुंबईः कोरोना संकट के बीच महाराष्ट्र के प्रसिद्ध झील लोनार का पानी ही गुलाबी हो गया

है। इस घटना से आस पास के लोग किसी अज्ञात भय से आशंकित हैं। यह क्यों हुआ है,

इस बारे में अब तक कोई वैज्ञानिक जानकारी नहीं मिल पायी है। वैसे यह झील भी

महाराष्ट्र के अन्यतम विश्वविख्यात पर्यटन स्थलों में से एक हैं, जहां हर साल हजारों

विदेशी भी घूमने आते हैं।

वहां के झील का पानी रातोंरात गुलाबी होने की घटना ने वैज्ञानिकों का ध्यान भी आकृष्ट

किया है। दरअसल एक विशाल उल्कापिंड के पृथ्वी पर आ गिरने की वजह से बने विशाल

गड्डे से इस झील की रचना होने की वजह से भी इसका अधिक महत्व है। वैज्ञानिक मानते

हैं कि इस झील की रचना करीब पचास हजार वर्ष पूर्व हुई थी। उसके बाद से धीरे धीरे यह

गड्डा विशाल झील में तब्दील होता चला गया। आस पास के पर्यावरण संरक्षण के लिए भी

इस झील को काफी महत्वपूर्ण माना जाता है।

कोरोना संकट के बीच की गुत्थी को सुलझाने में वैज्ञानिक जुटे

मुंबई से करीब पांच सौ किलोमीटर की दूरी पर इस झील का व्यास करीब 1.2 किलोमीटर

है। इसलिए समझा जा सकता है कि जो उल्कापिंड यहां पर आकर गिरा होगा, उसका

आकार कितना बड़ा होगा। इसी झील का पानी अचानक गुलामी क्यों हो गया है, यही

हैरानी का विषय बना हुआ है। कुछ स्थानी वैज्ञानिक मानते हैं कि झील में मौजूद शैवाल

में हुए बदलाव की वजह से भी ऐसा हुआ होगा लेकिन वे इस बारे में अभी यकीनी तौर पर

कुछ नहीं कर पा रहे हैं। उनका आकलन उत्तरी अंटार्कटिका मे नये किस्म के प्रवाल के

पनपने की वजह से वहां के बर्फ के हरा होने से जुड़ा हुआ है। कुछ लोग मानते हैं कि

लगातार बारिश नहीं होने की वजह से झील में जलस्तर भी काफी नीचे चला गया है। हो

सकता है कि इसी वजह से पानी में खारापन अधिक होने की वजह से ही पानी का रंग

रातोंरात बदल गया है। इस बारे में सबसे प्रमुख राय डॉ बाबासाहिब अंबेडकर मराठवाड़ा

विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग के प्रमुख डॉ मदन सूर्यवंशी का है। वह मानते हैं कि यह

कोई मानव सृजित बात नहीं है। लेकिन आम तौर पर जब पानी में शैवाल बढ़ता है तो

उसका रंग और गहरा हरा हो जाता है। लेकिन यहां अगर पानी का रंग गुलाबी हुआ है तो

यह झील के अंदर होने वाले किसी बदलाव की वजह से है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from महाराष्ट्रMore posts in महाराष्ट्र »

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!