Press "Enter" to skip to content

अखिलेश का अब तक का एलान सभी राजनीतिक दलों के लिए हैरानी वाली बात




राष्ट्रीय खबर
नईदिल्ली: अखिलेश यादव ने एक राजनीतिक बम फोड़ा है। अचानक से उन्होंने इस बात की घोषणा




की है कि वह अगले विधानसभा चुनाव में खुद चुनाव नहीं लड़ेंगे। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री तथा

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष ने अपने चुनाव नहीं लड़ने के बारे में कोई कारण नहीं बताया है।

अखिलेश का अब तक का एलान सभी राजनीतिक दलों के लिए हैरानी वाली बात है। अब तक तो

उन्हें ही भाजपा के खिलाफ सबसे बड़े चेहरे के तौर पर आंका जा रहा था। हाल ही में उन्होंने बसपा के

खेमे में भी सेंध लगाने में सफलता पायी है। आज अखिलेश यादव ने कहा कि राष्ट्रीय लोकदल के

साथ मिलकर उनकी पार्टी इस विधानसभा चुनाव में भाग लेगी। वैसे दोनों दलों के बीच अब तक

सीटों का समझौता नहीं हो पाया है। बता दें कि वर्ष 2022 के प्रारंभ में ही उत्तरप्रदेश में विधानसभा

चुनाव होने वाले हैं। सभी दलों ने अंदर ही अंदर उसकी तैयारी भी प्रारंभ कर दी है। पिछले मई महीने

में कोरोना संक्रमण के बीच आयोजित पंचायत चुनाव में भाजपा ने जीत हासिल की थी लेकिन इस

में भीसमाजवादी पार्टी का प्रदर्शन तुलनात्मक तौर पर बेहतर रहा था। राजनीतिक विरोधियों का




आरोप है कि पिछले डेढ़ साल का अधिकांश समय अखिलेश ने विदेश में ही गुजारा है।

अखिलेश ने विदेश में ही गुजारा है

अनेक प्रमुख घटनाओं के बाद भी उन्हें आंदोलन के लिए मैदान में उतरते हुए नहीं देखा गया है।

सीबीआई जांच की वजह से बसपा सुप्रीमो मायावती के पूरी तरह चुप्पी साधे होने के बाद यह सवाल

भी उठ रहा है कि कहीं अखिलेश भी केंद्र सरकार यानी भाजपा के दबाव में तो नहीं हैं। इसलिए

अखिलेश के चुनाव में नहीं उतरने के एलान के बाद अपनी पार्टी के लिए सभी जातियों के मतों को

एक साथ लाने की कवायद कौन करेगा, यह सवाल उठ खड़ा हुआ है। दरअसल उत्तर प्रदेश में

समाजवादी पार्टी के उदय के पीछ अखिलेश के पिता मुलायम सिंह यादव के राजनीतिक अनुभव का

फायदा रहा है। उन्होने बड़ी सफाई के साथ विभिन्न जाति समूहों को एक साथ जोड़ने का काम किया

है। अब मुलायम सिंह के उत्तराधिकारी के तौर पर अखिलेश अगले चुनावी समर में कितना कारगर

भूमिका निभायेंगे और बिना चुनाव लड़े वह क्या काम करेंगे, यह सवाल अब ज्यादा महत्वपूर्ण हो

गया है।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »

3 Comments

Leave a Reply

%d bloggers like this: