Press "Enter" to skip to content

बागपत में टिड्डी दल रोकने को कृषि विभाग ने जारी किया अलर्ट

बागपतः बागपत में टिड्डी दल के प्रवेश की संभावना को रोकने के लिए कृषि विभाग ने

अलर्ट जारी कर दिया है। कृषि रक्षा अधिकारी डॉ सूर्य प्रताप सिंह ने रविवार को यहां

बताया कि टिड्डी दल की प्रदेश में आने की संभावना है। इसके लिए सरकार ने अलर्ट जारी

कर दिया है। टिड्डी दल में करोड़ों की संख्या में दो से ढाई इंच के पीले रंग के कीट होते है,

जो कुछ ही घंटों में फसल को खा जाते है। ड्रम, ढोल, टीन के डिब्बे बजाने से कीट को

भगाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा रात्रि में 12 बजे से सुबह छह बजे

तक क्लोरोपाइरीफॉस 20 प्रति, क्यूनॉलफॉस 1.5 प्रति, फैनीट्रोथियोन 50 ईसी या

मैलाथियान 96 प्रति, यूएलबी में से किसी एक रयायन का घोल बनाकर छिड़काव करने से

भी टिड्डी दल से फसलों को बचाया जा सकता है। श्री सिंह ने बताया किटिड्डी आक्रमण

की दशा में जिले स्तर पर 0121-2220100 और प्रदेश स्तर पर 0522-2732063 को कंट्रोल

रूम बनाया गया है। किसान कंट्रोल रूम में अपनी शिकायत दर्ज कर समस्या का समाधान

करा सकते है।

बागपत में टिड्डी दल मध्यप्रदेश से आगे बढ़ेगा

पाकिस्तान की सीमा के भीतर इन टिड्डियों की आबादी को नियंत्रित नहीं किया जा सका

था। इसकी वजह से संख्या बढ़ने क बाद वे अपने तरीके से आगे बढ़ते हुए राजस्थान के

रेगिस्तानी इलाकों से आगे बढ़ते चले आये हैं। उनके मध्यप्रदेश के अलावा पंजाब और

हरियाणा की तरफ बढ़ने की भी सूचना है। जाहिर है कि इन राज्यों में टिड्डी का हमला

होने के बाद बागपत में टिड्डी दल का आना लगभग तय है। इस बीच हर स्तर पर इन्हें

समाप्त करने के अभियान चल रहा है, जिसमें अब तक अपेक्षित सफलता नहीं मिली है।

दूसरी तरफ यह टिड्डी दल अपने रास्ते में आने वाली हर प्रकार की हरियाली को अपना

भोजन बनाता हुआ आगे बढ़ रहा है। इससे खेतों में लगी फसल और पेड़ पौधे भी पूरी तरह

सफाचट हो रहे हैं।

[subscribe2]

Spread the love
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from पर्यावरणMore posts in पर्यावरण »
More from राजस्थानMore posts in राजस्थान »

One Comment

  1. […] बागपत में टिड्डी दल रोकने को कृषि विभा…By Chhabi Vermaबागपतः बागपत में टिड्डी दल के प्रवेश की संभावना को रोकने के लिए कृषि विभाग… Leave a Comment […]

... ... ...
error: Content is protected !!