Press "Enter" to skip to content

जीपीओ में हुई बैठक के बाद 18 को धरना देने का निर्णय लिया गया




  • झारखंड के डाक घरों में पेंशन एवं सैलरी भुगतान में विलम्ब

  • दो दर्जन से अधिक पेंशनर्स लाभ लिए बिना मर गये

रांची : जीपीओ में पोस्टल आरएमएस पेंशनर्स एसोसिएशन की स्टेट कार्यकारिणी की बैठक नवल किशोर जमशेदपुर की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।

बैठक में जमशेदपुर से नवल किशोर के अलावा कुनु पात्रा, जगदेव प्रसाद हजारीबाग से अर्जुन पांडेय, उमाशंकर ठाकुर,

आर प्रसाद, गुमला से बिरसा उरांव, सिमडेगा से आर बाखला, घनश्याम बड़ाइक एवं रांची से केडी रॉय,

त्रिवेणी ठाकुर, त्रिलोकी साहू, गणेश चन्द्र डे, जेठू बड़ाइक सहित दर्जनों पेंशनर्स शामिल हुए।

बैठक में पेंशनर्स की समस्याओं पर विस्तृत चर्चा हुई।

पेंशन भुगतान में नई व्यवस्था लागू होने से अप्रत्याशित विलम्ब हो रहा है।

अंतिम कार्य दिवस को भुगतान न हो कर हर महीने की 4-5 तारीख को भुगतान हो रहा है।

पहले भुगतान प्रधान डाक घरों से अंतिम कार्यदिवस को बिना विलम्ब के हो जाया करता था।

सीएसआई के रॉल आउट के बाद डाक लेखा निदेशक कार्यालय से झारखंड सर्किल में भुगतान गड़बड़ी हो रही है,

जिसके कारण पेंशनर्स सहित कर्मचारियों को असुविधा का सामना करना पड़ रहा है।

14 जुलाई को हजारीबाग में दूसरी स्टेट कांफ्रेंस आयोजित की जाएगी जिसमें राज्य के पेंशनर्स शामिल होंगे।

एसोसिएशन के महासचिव के राघवेंद्र चेन्नई अधिवेशन का उद्घाटन करेंगे।

गौहाटी में आयोजित सेंट्रल वर्किंग कमेटी की मीटिंग में झारखंड से 6 डेलीगेट्स हिस्सा लेंगे।

बैठक में सीजीएचएस की कार्यप्रणाली पर चिंता व्यक्त करते हुए स्टेट सेक्रेटरी पेंशनर्स एसोसिएशन

एमजेड खान ने कहा कि वेलनेस सेंटर 3 में कई बार एडिशनल डायरेक्टर एसीजीएचएस

रांची को लिखे जाने के बावजूद बुनियादी सुविधाएं भी अब तक उपलब्ध नहीं कराई गई हैं।

शुगर, बीपी, डिप्रेशन आदि की दवाएं भी 2-3 महीने से सीजीएचएस के वेलनेस सेंटर में उपलब्ध नहीं है,

जिसके कारण लाभर्तियों सहित पेंशनर्स को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

जीपीओ में धरना देने का कार्यक्रम किया गया तय

कार्यकारिणी की बैठक में निर्णय लिया गया कि 18 जून को भोजनावकाश के

समय संयुक्त रूप से एनएफपीई और पोस्टल पेंशनर्स एसोसिएशन की ओर से

रांची जीपीओ के समस्त डाक घरों में धरना दिया जाएगा

एक अप्रैल से धनबाद में सीजीएचएस काम कर रहा है।

लेकिन वहां भी लाभार्थियों को सुविधा नहीं मिल पा रही है।

डाक लेखा निदेशक कार्यालय रांची की कार्यप्रणाली पर

प्रश्न उठाते हुए कहा गया कि पेंशन मंत्रालय के

12 मई 2017 के आदेश का पूर्णत: अनुपालन नहीं किया

जिसके कारण आज भी 500 से अधिक पोस्टल,

आरएमएस पेंशनर्स एवं फैमिली पेंशनर्स के पेंशन का

पुनर्निर्धारण लम्बित है। ये चिंताजनक स्थिति है।

दो दर्जन से अधिक पेंशनर्स अपने जीवन मे इसका लाभ लिए मौत की आगोश में चले गए।

उच्च अधिकारियों तक बात पहुंचाई गई लेकिन परिणाम शून्य रहा।

डाक निदेशालय के कई आदेश सर्किल कार्यालय रांची में अनुपालन हेतु लम्बित पड़े हैं, जिसमें मुख्यरूप से

पोस्टमेन के पेंशन का एक जनवरी 96 से पुनर्निर्धारण का मामला है जो 2018 के जनवरी से लंबित है।

विभाग की अकर्मण्यता को लेकर पेंशनर्स में काफी नाराजगी और रोष है।

निर्णय लिया गया कि एसोसिएशन का 4 सदस्यीय डेलिगेशन अगले सप्ताह चीफ पीएमजी,डीपीएस एवं

डाक लेखा उपनिदेशक से मिलकर समस्या का समाधान निकालने का प्रयास करेगा।

सभा का संचालन एमजेड खान एवं धन्यवाद ज्ञापन केडी राय व्यथित ने किया।

बैठक को कुनु पात्रा, अर्जुन पांडेय, उमाशंकर ठाकुर, आर बाखला, त्रिवेणी ठाकुर, व्यथित, नवल किशोर, जगदेव प्रसाद, हीरा राम तिवारी ने सम्बोधित किया।

बैठक में एनके वर्मा, महाबीर ठाकुर, परमेश्वर साहू, डीएन साहू, विगु साहू, जेठू बड़ाइक, डी गोस्वामी, मो. फारूक, लखन राम, माधो राम, अनिल कच्छप, जॉन सोरेन, जीसी डे आदि उपस्थित थे।



Rashtriya Khabar


One Comment

Leave a Reply

WP2FB Auto Publish Powered By : XYZScripts.com