Press "Enter" to skip to content

डेढ़ साल बाद सिनेमाघरों में फिर लौटेगी बहार




डेढ़ साल बाद अंततः कोरोना के आतंक से मुक्त सिनेमाघरों में रौनक आने वाली है। इस दौरान अनेक फिल्मों का अधिकांश काम पूरा होता रहा है। इसलिए चर्चा है कि अगले महीने एक के बाद एक कर करीब एक सौ फिल्में रिलीज होंगी।




कोरोना का पहला हमला होने के बाद देश व्यापी लॉकडाउन के दौरान सिनेमाघरों को भी बंद किया गया था। उसके बाद दूसरी लहर के पूर्व अन्य संस्थानों में छूट दिये जाने के बाद भी भीड़ से बचने के प्रावधान की वजह से सिनेमाघरों को खोलने की अनुमति नहीं दी गयी थी।

दूसरी लहर का कहर झेलने के बाद हर स्तर पर जो आतंक का माहौल था, उसकी वजह से अब तक सिनेमाघर नहीं खोले गये थे। इस दौरान फिल्म उद्योग से जुड़े लोग भविष्य के प्रति सकारात्मक रवैया अपनाते हुए फिल्मों के बनाने का काम पूरा करते रहे।

इस दौरान कई फिल्में दूसरे प्लेटफॉर्मों पर रिलीज भी कर दी गयी लेकिन फिल्म जगत को तो दरअसल सिनेमाघरों की भीड़ से ही अपनी फिल्मों के सफल होने का एहसास होता है। दूसरी तरफ लगातार की बंदी से इन सिनेमाघरों से प्रत्यक्ष और परोक्ष तौर पर रोजगार से जुड़े लोगों के लिए भी यह भीषण संकट का दौर रहा है।

सिनेमाघरों के बंद होने की वजह से सिनेमाघरों पर आधारित आस पास के कारोबार भी इससे प्रभावित हुए हैं। अब इस स्थिति के सुधरने की उम्मीद है। जानकारी है कि महाराष्ट्र सरकार 22 अक्टूबर से सिनेमाघरों को फिर से खोलने की मंजूरी देने जा रही है।

महाराष्ट्र हिंदी फिल्म कारोबार के लिए महत्त्वपूर्ण केंद्र है। हिंदी फिल्मों की बॉक्स ऑफिस कमाई में महाराष्ट्र का 27 से 30 फीसदी योगदान है और यह काफी हद तक किसी फिल्म की सफलता या असफलता तय करता है।

डेढ़ साल बाद फिल्मों के हिट और फ्लॉप की परख होगी

देश के 3,000 मल्टीप्लेक्स और 400 सिंगल स्क्रीन सिनेमाघरों में से 20 फीसदी अकेले इसी राज्य में हैं। महाराष्ट्र में सिनेमाघर दोबारा खुलने का मतलब है कि देश की कुल मूवी स्क्रीन में से करीब 97 फीसदी खुल जाएंगी, भले ही कर्नाटक या तेलंगाना में 50 फीसदी सीटें भरने की बंदिश रहे या पूरी क्षमता पर काम करने की इजाजत मिल जाए।

डेढ़ साल बाद सिनेमाघर खुलने की खबर से मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष और देश की सबसे बड़ी सिनेमाघर शृंखला पीवीआर पिक्चर्स के सीईओ कमल ज्ञानचंदानी खुश नजर आए।

ज्ञानचंदानी ने कहा, अगले चार महीनों के दौरान कोविड-19 से पहले की तुलना में हर सप्ताह 25 फीसदी ज्यादा फिल्में (हिंदी एवं क्षेत्रीय) रिलीज होंगी। हिंदी में हर दो सप्ताह में कम से कम एक बड़ी फिल्म आएगी। यह अभूतपूर्व है।




मनोरंजन उद्योग पर नजर रखने वाली हॉन्ग कॉन्ग की कंपनी मीडिया पार्टनर्स एशिया (एमपीए) के मुताबिक आम तौर पर हर साल 5 से 6 बड़ी फिल्में आती हैं, लेकिन अगले साल यह आंकड़ा दोगुना हो जाएगा यानी लगभग हर महीने एक बड़ी फिल्म रिलीज होगी।

एमपीए के मुताबिक वर्ष 2020 में बॉक्स ऑफिस कमाई (हिंदी समेत सभी फिल्म) महज 2,000 करोड़ रुपये रही क्योंकि मार्च से सिनेमाघर बंद रहे। इस साल भी 5-6 महीने सिनेमाघर बंद रहे हैं, लेकिन अगले तीन महीनों के दौरान फिल्म रिलीज से बॉक्स ऑफिस कमाई करीब 6,000 करोड़ रुपये पर पहुंच जाएगी।

एमपीए के उपाध्यक्ष मिहिर शाह ने कहा, इन फिल्मों में से बहुत सी पिछले डेढ़-दो साल से सिनेमाघरों में रिलीज होने का इंतजार कर रही हैं। त्योहारी मौसम में सिनेमाघरों को खोलना अच्छा समय है। हम उम्मीद करते हैं कि अगले साल बॉक्स ऑफिस कमाई 2019 की तरह 10,000 करोड़ रुपये पर पहुंच जाएगी।

इससे जुड़े लोगों की उम्मीदें दर्शकों पर टिकी है

ज्ञानचंदानी को इतनी ज्यादा उम्मीद नहीं है। उनका मानना है कि वर्ष 2021 में 2019 के मुकाबले 35 से 40 फीसदी बॉक्स ऑफिस कमाई होगी और अगले साल यह आंकड़ा 2019 के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है।

लेकिन मल्टीप्लेक्स मालिक न केवल अपने घाटे की भरपाई के लिए नहीं बल्कि महंगाई की वजह से भी टिकट कीमतें बढ़ाने के बारे में विचार कर रहे हैं।

शाह ने कहा, मल्टीप्लेक्स की औसत टिकट कीमतों में तेज बढ़ोतरी के आसार हैं, लेकिन सिंगल स्क्रीन सिनेमाघरों में कम इजाफा होगा।

महाराष्ट्र में करीब 1,000 स्क्रीन फिर से खुलने जा रही हैं। प्रॉडक्शन हाउस पहले ही रिलीज की तारीख घोषित करने लगे हैं।

यश राज फिल्म्स ने 2021 के अंत और 2022 की शुरुआत में चार फिल्मों की रिलीज की घोषणा की है, जिनमें रणवीर सिंह के साथ जयेशभाई जोरदार, अक्षय कुमार के साथ पृथ्वीराज, रणबीर कपूर के साथ शमशेरा और रानी मुखर्जी एवं सैफ अली खान के साथ बंटी और बबली 2 शामिल हैं।

रिलायंस एंटरटेनमेंट ने कहा है कि वह दो बड़ी फिल्में रिलीज करेगी। इनमें से अक्षय कुमार एवं कटरीना कैफ अभिनीत सूर्यवंशी दीवाली पर रिलीज होगी, जबकि रणवीर सिंह अभिनीत 83 क्रिसमस पर आएगी।



More from कला एवं मनोरंजनMore posts in कला एवं मनोरंजन »
More from देशMore posts in देश »
More from फ़िल्मMore posts in फ़िल्म »
More from संपादकीयMore posts in संपादकीय »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: