Press "Enter" to skip to content

पांच महीने से बांग्लादेश में अटके भारतीयों का लौटना चालू

  • लॉक डाउन और कोरोना की वजह से फंसे थे सभी

  • पहले दिन 830 यात्री भारतीय सीमा में आये

  • लौटने वालों में डेढ़ सौ मेडिकल छात्र भी

सुभाष दास

अगरतलाः पांच महीने से बांग्लादेश में फंसे पड़े भारतीयों का अपने देश लौटना अब चालू

हो गया है। दरअसल कोरोना संक्रमण की वजह से दोनों देशों में लगे लॉक डाउन की वजह

से यह सारे भारतीय बांग्लादेश के विभिन्न इलाकों में फंस गये थे। अब लौटने की इजाजत

मिलने के बाद उनका पहला जत्था भारत में बेनापोल चेकपोस्ट के रास्ते अपने देश पहुंचा

है। इसके पहले कोरोना की वजह से अंतर्राष्ट्रीय सीमा भी बंद कर दिये गये थे। यह

प्रतिबंध पिछले 13 मार्च को लागू कर दिया गया था।

वीडियो में देखिये यह पूरा घटनाक्रम

 

आम तौर भारत और बांग्लादेश की कुछ सीमा पर हर रोज यात्रियों का आना जाना लगा ही

रहता है। साथ ही इन रास्तों पर वाहनों का आवागमन भी होता है। अधिकांश बड़े ट्रक माल

लेकर आना जाना करते हैं। कोरोना के वैश्विक संकट ने इन सभी गतिविधियों पर विराम

लगा रखा था अब पांच महीने के बाद स्थिति सामान्य बनाने की कवायद प्रारंभ हुई है।

इसी के तहत सिर्फ भारतीय पासपोर्ट धारी लोगों को भी इन मार्गों से लौटने की अनुमति

दी जा रही है।

भारत लौटने की छूट दिये जाने का एलान गत 18 अगस्त को ही बांग्लादेश में कर दिया

गया था। बेनापोल चेकपोस्ट से ही भारत जाने का प्रावधान किये जाने की वजह से जहां

तहां फंसे लोग किसी तरह इस चेकपोस्ट पर पहुंचे थे।

पांच महीने से फंसे लोगों ने आंदोलन की चेतावनी दी थी

दरअसल इस बीच बांग्लादेश में अटके भारतीयों ने भी नाराजगी में इसी चेकपोस्ट पर

अनिश्चितकालीन धरना देने तक की धमकी दे दी थी। इसके तुरंत बाद भारतीय दूतावास

ने अपने पासपोर्ट धारियों के प्रवेश का एलान किया था।

बांग्लादेश में पांच महीने तक फंसे रहने के बाद भारत लौटने वालों में करीब डेढ़ सौ

मेडिकल के छात्र भी हैं। यह सभी भारत के विभिन्न राज्यों से हैं और कोरोना की वजह से

बांग्लादेश में फंसे हुए थे। स्वदेश लौटने वालों ने बताया कि इस दौरान उन्हें अनेक किस्म

की कठिनाइयों का सामना भी करना पड़ा। लेकिन परिस्थितियां ही कुछ ऐसी थी कि

उसका कोई समाधान भी नहीं हो सकता था।वैसे यात्रियों के आने के साथ साथ बांग्लादेश

और भारत के बीच वाहनों का यातायात भी चालू हो रहा है।

[subscribe2]

Spread the love
More from कूटनीतिMore posts in कूटनीति »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from त्रिपुराMore posts in त्रिपुरा »
More from देशMore posts in देश »
More from पर्यटन और यात्राMore posts in पर्यटन और यात्रा »
More from बांग्लादेशMore posts in बांग्लादेश »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »
More from शिक्षाMore posts in शिक्षा »

One Comment

... ... ...