fbpx Press "Enter" to skip to content

अफगानिस्तानी सेना ने 21 तालिबानी आतंकवादियों को मार गिराया

काबुल: अफगानिस्तानी सेना ने देश के उत्तरी हिस्से में चलाये गये दो

अभियानों में 21 तालिबानी आतंकवादियों को ढेर कर दिया है। सुरक्षाबलों ने

सोमवार को बताया कि बदगीस प्रांत में सुरक्षा चौकी पर हमले की कोशिश कर

रहे 12 आतंकवादी मारे गये। उन्होंने कहा,‘‘तालिबान कला ए नवा-कादिस सड़क

को बंद कराना चाहते थे, इसको लेकर उनकी सुरक्षा बलों के साथ शुरू हुयी

मुठभेड़ में सात तालिबानी आतंकवादी मारे गये 11 अन्य घायल हो गए।’’

रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि सड़क किनारे बम लगाने की कोशिश में

विस्फोट के दौरान पांच आतंकवादियों की मौत हो गई। एक अन्य घटना में

बल्ख प्रांत में तालिबानी आतंकवादियों और अफगान सेना के साथ मुठभेड़ में नौ

तालिबान के नौ सदस्य मारे गये। अफगान सशस्त्र बलों की शाहीन कोर ने एक

विज्ञप्ति में कहा गया, ‘‘ चारबोलक जिले के तैमूर गांव में स्थित सुरक्षा चौकियों

पर तालिबान आतंकवादियों ने हमला किया। अफगान बलों ने जवाबी कार्रवाई

करते हुये नौ आतंकवादियों को ढेर कर दिया और इस दौरान पांच अन्य घायल

हो गये।’’ इस दौरान कोई भी अफगानी सैनिक हताहत नहीं हुआ है। सुरक्षा सूत्रों

ने बताया कि इस बीच कंधार शहर में अफगानी सेना के सेवानिवृत्त कर्नल

मोहम्मद गुल की हत्या कर दी। किसी भी समूह ने अभी तक इसकी जिम्मेदारी

नहीं ली है।

अफगानिस्तानी सेना पाकिस्तान सीमा खोलने से भी चिंतित

कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ने की शिकायतों के बीच अचानक से पाकिस्तान

की दो सीमाओं को खोल दिये जाने से भी अफगानिस्तानी सेना को सतर्क होना

पड़ा है। इन सीमाओं के हजारों लोग अचानक ही अफगानिस्तान में प्रवेश कर

गये हैं। ऐसे लोगों में कौन आतंकवादी है अथवा कौन कोरोना पीड़ित है, इसकी

कोई पहचान भी नहीं हो पायी है। दूसरी तरफ शांति वार्ता से तालिबान के अलग

होने की घोषणा के बाद सेना को नये सिरे से पूरी तरह सतर्क कर दिया गया है।

इसका मकसद फिर से होने वाले किसी भी तालिबानी हमले को विफल करना ही

है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!