fbpx Press "Enter" to skip to content

नामकुम स्थित प्रोबेशन होम में बजी शादी की शहनाई




रांची: नामकुम स्थित प्रोबेशन होम (नारी निकेतन) के लिए मंगलवार का दिन खास था।

चूंकि जहां अनाथ, अभियुक्त और आश्रितों का निवास है, वहां शादी की शहनाई बजी।

मंडप सजा, जयमाल भी हुआ। इससे भी खास बात है कि नारी निकेतन में रहने

वाली दो अनाथ बेटियों की शादी हुई। इन बेटियों में पूजा कुमारी और

सरस्वती टुडू शामिल हैं। प्रोबेशन होम की अधीक्षक संगीता कुमारी ने

दोनों अनाथ बेटियों की मां की भूमिका निभाते हुए शादी कराई।

जबकि जेल आइजी बीरेंद्र भूषण और उनकी पत्‍‌नी कंचन लता ने

दोनों का कन्यादान किया। यह शादी बिना दहेज की हुई है।

दोनों दूल्हे ने कोई दहेज नहीं लिया। बेटियों की शादी के सपनों को

साकार करने वाले संतोष वाल्मीकि और संजय कुमार राय हैं।

संतोष बाल्मीकि घाटशिला जेल में चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी हैं।

वे पश्चिमी सिंहभूम के घाटशिला के हरिजन बस्ती के रहने वाले हैं।

जबकि संजय कुमार राय नगड़ी के मेराल गांव में रहने वाले हैं।

वे झारखंड हाईकोर्ट में मुंशी की नौकरी करते हैं। मौके पर नामकुम

बीडीओ देवदत्त पाठक, सीओ शुभ्रा रानी, प्रोबेशन होम की अधीक्षक

संगीता कुमारी, कारा विभाग के कई अधिकारी सहित होम में रह रही

अन्य युवतिया भी शामिल हुई। दोनों बेटियों को ना कभी माता-पिता का

प्यार मिला, ना कभी भाई बहनों के साथ खेलने का मौका। लेकिन

शादी के मौके पर कोई मां बनी, तो कोई पिता। कई बहनें भी थीं।

साथ में हमसफर भी मिल गया।

नामकुम स्थित प्रोबेशन होम यह खुशी देख दोनों बेटियां रो पड़ी

दरअसल पूजा कुमारी 14 नवंबर 2011 को राजस्थान के जयपुर से

सीडब्ल्यूसी के माध्यम से नारी निकेतन लाई गई थी। उस समय पूजा

की उम्र हजम 13 साल थी। जबकि सरस्वती टुडू 21 दिसंबर 2014 को

गिरीडीह में लावारिश हाल में भटकती मिली थी। उसे रांची लाने के बाद

एसडीओ राची के निर्देश पर रखा गया था। उस समय सरस्वती की

उम्र 9 वर्ष थी। दोनों बेटियों की शादी जेल आइजी बीरेंद्र भूषण व

प्रोबेशन होम की अधीक्षक संगीता कुमारी के प्रयास से हुई। संगीता

टुडू की शादी संतोष से कराई गई, जबकि पूजा की शादी दलादिली

मेराल निवासी संजय कुमार राय से हुई।

प्रोबेशन होम की अधीक्षिका संगीता कुमारी ने बताया कि दोनों

लड़कियों की शादी की उम्र हो गई थी। शादी के लिए पूछने पर

रजामंदी दी। इसबीच घाटशिला जेल में कार्यरत संतोष वाल्मीकि

और हाईकोर्ट में मुंशी की नौकरी करने वाले संजय कुमार राय से

बातचीत की गई। दोनों को लड़कियों से मिलाया गया। दोनों ओर

से रजामंदी के बाद कारा विभाग के अधिकारियों को बताया गया।

विभाग के द्वारा दोनों लडकों के बारे में छानबीन करने के बाद

सोमवार 17 जून 2019 को दोनों की कोर्ट मैरेज कराई गई। इसके

बाद 18 जून को पूरे पंडित मदन पांडेय ने विधि विधान से शादी कराई।

मौजूद लोगों ने उपस्थित लोगों ने दोनों वर वधू को नए जीवन के लिए आशीर्वाद दिया।

दोनो जोडों को आशीर्वाद के साथ गिफ्ट के रूप में गहने, कपडे़, सूटकेश,

बेडसीट सहित अन्य आवश्यक सामान दिए गए। इस दौरान

निबंधन कार्यालय की ओर से जारी किए गए विवाह का प्रमाणपत्र भी

सौंपा गया। अब तक उन्होनें बताया कि इससे पूर्व प्रोबेशन होम में रह

रही 19 लड़कियों की शादी हो चुकी है।

हालांकि वे शादियां सामान्य थी। वह बाहर कराई गई थी।



Rashtriya Khabar


More from जीवन शैलीMore posts in जीवन शैली »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

WP2FB Auto Publish Powered By : XYZScripts.com