fbpx Press "Enter" to skip to content

अदनान सामी के पिता ने भारत पर बम बरसाये थे- दिग्विजय सिंह

इंदौरः अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार दिये जाने पर कांग्रेस के नेता

दिग्विजय सिंह ने नया विस्फोट किया है। उन्होंने आज यहां कहा कि

एक ऐसे व्यक्ति को देश का यह प्रतिष्ठित सम्मान प्रदान किया गया

है जिसके पिता ने कभी भारत पर बम बरसाये थे। उल्लेखनीय है कि

अदनाम सामी ने वर्ष 2015 में भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन

किया था। उन्हें वर्ष 2016 में भारतीय नागरिकता प्रदान कर दी गयी

है। कांग्रेस नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने

कहा कि अदनान सामी का इतिहास देश की सरकार को पता नहीं हो,

ऐसी बात तो हो नहीं सकती है। कौन नहीं जानता है कि अदनाम सामी

के पिता पाकिस्तान की वायुसेना के पायलट थे और उन्होंने युद्ध के

दौरान भारत पर बम बरसाये थे। श्री सिंह ने कहा कि भारत पर बम

बरसाने वाले को पद्मश्री सम्मान दिया गया है जबकि भारतीय सेना की

तरफ से युद्ध में भाग लेने वाले मानद कैप्टन सनाउल्लाह को विदेशी

घोषित कर डिटेंशन कैंप में भेज दिया जाता है।

अदनान पद्मश्री और कैप्टन सनाउल्लाह विदेशी !

श्री सिंह ने कहा कि अदनान को भारत की नागरिकता देने की

सिफारिश उन्होंने भी की थी। लेकिन इसका यह अर्थ नहीं है कि उसे

निजी लाभ के लिए पद्मश्री सम्मान भी दे दिया जाए। अदनान सामी

उन 118 लोगों में से हैं जिन्हें पिछले माह पद्मश्री पुरस्कारों के लिए चुना

गया है। अदनान सामी को यह सम्मान दिये जाने की आलोचना पहले

से ही होती आयी है। लेकिन इससे पहले किसी ने यह नहीं कहा था कि

उसके पिता पाकिस्तान की वायुसेना के पाइलट थे और भारत के

खिलाफ युद्ध में भारत पर बम बरसाने वालों में शामिल थे। इसलिए

यह तय माना जा रहा है कि दिग्विजय सिंह के इस बयान के बाद

अदनान सामी को पद्मश्री सम्मान दिये जाने का फैसला फिर से विवादों

में घिर गया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply