fbpx Press "Enter" to skip to content

अडानी विल्मर ने लांच की देश की पहली ब्रांडेड रेडी टू कुक खिचड़ी







अहमदाबादः अडानी विल्मर की  तैयार खिचड़ी खाने के लिए अब तैयार हो जाइये।

फार्च्यून ब्रांड नाम से चावल, तेल, दाल और ऐसी अन्य खाद्य सामग्री बेचने

वाली अग्रणी कंपनी अडानी विल्मर लिमिटेड ने पकाने के लिए तैयार

(रेडी टू कुक) क्षेत्र में प्रवेश करने की घोषणा करते हुए आज देश की ऐसी

पहली ब्रांडेड रेडी टू कुक खिचड़ी लांच की।

गुजरात आधारित अडानी समूह तथा सिंगापुर के विल्मर इंटरनेशनल

लिमिटेड के संयुक्त उपक्रम अडानी विल्मर के हेड (मार्केटिंग)

अजय मोटवानी ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कंपनी ने

शुरूआत में इसे ऑफलाइन के तौर पर केवल दिल्ली में और ऑनलाइन

में अमेजॉन, फ्लिपकार्ट, बिग बास्केट समेत चार प्रमुख ई कामर्स

प्लेटफार्म पर छह शहरों दिल्ली, मुंबई, पुणे, बेंगलुरू, हैदराबाद

और चेन्नई में लांच करना तय किया है।

इसके तीन प्रकार बंगाली, पंजाबी और गुजराती खिचड़ी हैं।

छह माह के भीतर तीन और प्रकार की खिचड़ी लांच की जायेगी

और इसे गुजरात में भी लांच किया जायेगा।

कंपनी ने दो साल में इसके जरिये 50 करोड़ के सालाना कारोबार यानी तीन

लाख किलो प्रति माह का लक्ष्य तय किया है।

उन्होंने बताया कि खिचड़ी की लोकप्रियता बढ़ती जा रही है और अब यह हर तरह के लोगों की पसंद है।

यह बनाने में आसान होने के साथ ही स्वास्थ्यप्रद और जायके वाला व्यंजन बन गया है।

पंजाबी खिचड़ी में बासमती, बंगाली खिचड़ी में गोविंदभोग और गुजराती

खिचड़ी में जीरासर चावल का प्रयोग किया गया है।

अडानी विल्मर इस योजना का आगे विस्तार भी करेगी

इसे 200 ग्राम के पैक में 49 रूपये की कीमत में लांच किया गया है

जिसे कम से कम चार लोग खा सकते हैं।

इसे सुपरफूड बनाने के लिए इसमें अलसी के बीज, तिल आदि भी मिलाये

गये हैं।

इसे जल्द से जल्द निर्यात भी करना शुरू किया जायेगा और शुरूआत में इसे

दुबई और ईरान में उपलब्ध कराया जायेगा।

श्री मोटवानी ने बताया कि कंपनी ने पिछले 12 माह में कुल मिला कर

12 नये उत्पाद लांच किये हैं जिनमें चावल की छह किस्में है।

कंपनी हर माह एक नया उत्पाद लांच करने का लक्ष्य लेकर चल रही है।

रेडी टू कुक क्षेत्र में प्रवेश के बाद अब छह माह में तीन और तरह की खिचड़ी

और एक अन्य ऐसा उत्पाद लांच करने की योजना है।

अगले साल तक देश में रेडी टू कुक क्षेत्र का बाजार 2000 करोड़ रूपये का

हो जाने का अनुमान है।

यह 15 से 20 प्रतिशत के की वार्षिक वृद्धि दर से बढ़ रहा है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.