fbpx Press "Enter" to skip to content

आदमपुर के डॉल्फिन रिसर्च का जायजा लिया विधायक अजीत शर्मा ने

  • यही पर खुलने जा रहा है राज्य का पहला डॉल्फिन रिसर्च सेंटर

  • आम और सिल्क के लिए पहले से ही मिली है ख्याति

  • भागलपुर के नाम एक और सम्मान जुड़ जाएगा इससे

दीपक नौरंगी

भागलपुरः आदमपुर के माणिक घाट पर डॉल्फीन पर रिसर्च करने वाले व्यक्ति दीपक

कुमार के आग्रह पर भागलपुर के माननीय विधायक अजीत शर्मा जी अपनी पत्नी श्रीमती

विभा शर्मा साहित माणिक सरकार घाट पहुंचे।

वीडियो में देखिये यह पूरा घटनाक्रम

आदमपुर के माणिक घाट पहुंचने और स्थिति का मुआयना करने के बाद इस अवसर पर

विधायक ने कहा कि डॉल्फिन को हमलोग एक मछली समझने की भूल कर देते हैं, लेकिन

वास्तव में डॉल्फिन एक मछली नही है, बल्कि जिस तरह व्हेल एक स्तनधारी प्राणी है

उसी तरह डॉल्फिन भी एक स्तनधारी प्राणी है, जो ज्यादातर मीठे पानी में रहना पसंद

करती है। ज्ञात हुआ है कि पटना के बदले भागलपुर में नेशनल डॉल्फीन रिसर्च सेंटर खोला

जायेगा, जो भागलपुर के लिए बहुत ही गर्व की बात होगी। भागलपुर में डॉल्फीन से

संबंधित तमाम तरह के रिसर्च और नई तकनीकी का शोध किया जायेगा। इस काम के

लिए आदमपुर के इलाके का चयन किया गया है।  बिहार सरकार ने सबसे पहले पटना में

नेशनल डॉल्फीन रिसर्च सेंटर खोलने का निर्णय लिया था, लेकिन सरकार ने अपने निर्णय

को बदलते हुए भागलपुर में उक्त सेंटर को खोलने का फैसला लिया है और जल्द ही स्थान

का चयन कर लिया जायेगा। डॉल्फिन की सुरक्षा एवं संरक्षण करना मछुआरों एवं जनता

का दायित्व बनता है। जिस तरह भागलपुर की पहचान कतरनी चावल, सिल्क एवं जर्दालू

आम से जाना जाता है, अब उसी कड़ी में डॉल्फीन भी एक कड़ी के रूप में जुड़ गया है, यह

भागलपुर के मान और सम्मान में चार-चाँद लगायेगा। माननीय विधायक ने कहा कि इस

विषय पर शोध कार्य में लगे सभी सम्मानित प्रोफेसर एवं विशेषज्ञों का शहर का विधायक

होने के नाते दिल से अभिनन्दन एवं स्वागत करते है।माननीय विधायक की धर्मपत्नी

श्रीमती विभा शर्मा ने कहा कि कोरोना जैसे वायरस की वजह से लॉकडाउन में काफी

आर्थिक नुकसान हुआ है लेकिन प्रकृति को इसका जबरदस्त फायदा हुआ है।

आदमपुर के इलाके में भी कोरोना से पर्यावरण सुधरा

हवा में प्रदूषण का स्तर कम होना और फैक्ट्रियों के बन्द हो जाने के कारण नदियों का

पानी पहले के मुकाबले काफी स्वच्छ हुआ है यह इसका प्रमाण है। गंगा स्वच्छ थी लेकिन

लोगों के पाप धोते-धोते मैली हो गई थी, लेकिन लॉकडाउन होने से इसका अच्छा असर

देखने को मिल रहा है। इस अवसर पर महानगर कांग्रेस अध्यक्ष सह पार्षद संजय कुमार

सिन्हा, नवीन सनगही, राकेश कुमार, अजय कुमार सिंह, विभूति भूषण राय, विनोद

कुमार राय, अशोक कुमार सिंह, पूनम मिश्रा, हृदय नारायण कुंअर अशोक मंडल, दीपक

हजारी, नीरज वर्मा, शिव कुमार सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कामMore posts in काम »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »
More from पर्यटन और यात्राMore posts in पर्यटन और यात्रा »
More from भागलपुरMore posts in भागलपुर »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: