Press "Enter" to skip to content

लद्दाख के अनेक इलाकों में चीन के काफी सैनिक तैनात हैः थलसेनाध्यक्ष




राष्ट्रीय खबर
नईदिल्लीः लद्दाख के अनेक इलाकों में भारी तादाद में चीन के सैनिकों को होने की पुष्टि भारतीय




थलसेना के जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे ने की है। भारत के साथ चीन की 13वें दौर की वार्ता के पूर्व

जनरल नरवाणे ने कहा कि दोनों देशों की सेना को पीछे हटाने के लिए यह वार्ता क्रमवार तरीके से हो

रही है। इस बीच ही पूर्वी लद्दाख के अलावा भी कई अन्य इलाकों मं चीनी सैनिक की मौजूदगी

देखी गयी है। हाल के दिनों में वहां चीनी सेना की अधिकता पर भी गौर किया जा रहा है। वहां अधिक

संख्या में चीनी सैनिकों का तैनात होना भारतीय पक्ष के लिए चिंता का विषय है। वैसे गलवान घाटी

के बाद से पूरे इलाके में जो माहौल है, उसमें यह एक सामान्य बात है। याद दिला दें कि गलवान घाटी

में दोनों देशों की सेना के बीच हुए भिड़ंत में बीस भारतीय सैनिकों की मौत हुई है। इसमें चीन के

सैनिक भी मारे गये हैं लेकिन चीन ने औपचारिक तौर पर इस बारे में कुछ भी नहीं कहा है। जनरल

नरवाणे के मुताबिक पूर्वी लद्दाख और नार्थन फ्रंट राइट में भारतीय सेना का पूर्वी कमांड तैनात है।

वहां तैनात भारतीय सैनिक ही सीमा पार से चीन की सेना की गतिविधियों को देख रहे हैं। हाल के




दिनों में चीन की सेना की अधिकता भी देखी गयी है। यानी चीन ने इन इलाकों में पहले के मुकाबले

अधिक सेना की तैनाती की है। जनरल ने कहा कि दोनों देशों के सैन्य कमांडरों की बैठक में एक एक

कर विवाद वाले इलाकों की समस्या को सुलझाया जा रहा है।

लद्दाख में भारत ने होवित्जर रेजिमेंट तैनात किया है

लद्दाख में भारत ने होवित्जर रेजिमेंट तैनात किया है इसलिए अभी सिर्फ भारतीय सेना को सतर्क

रहने भर की जरूरत है। उन्होंने उम्मीद जतायी कि लगातार बात चीत से हर उस मुद्दे को सुलझाया

जा सकता है, जिस पर अभी दोनों देशों की सेना के बीच विवाद की स्थिति है। कल यानी शुक्रवार को

ही जनरल नरवाणे ने पूर्वी लद्दाख के इलाकों का दौरा कर अग्रिम चौकियो का हाल चाल जाना है।

भारतीय सेना ने भी अपनी तरफ से उस इलाके में होवित्सर रेजिमेंट को तैनात कर रखा है। इससे

लद्दाख के इलाके में भारतीय सेना की ताकत बढ़ी हुई है। यह तोपखाना वहां होने की वजह से अपने

सामने के पचास किलोमीटर तक के इलाके में निशाना साध सकता है। पूर्व में भी ऊंचाई के इलाके में

यह तोपखाना कामयाब साबित हुआ है।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from लद्दाखMore posts in लद्दाख »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: