fbpx Press "Enter" to skip to content

कोरोना वायरस को हराने के लिए नई तकनीक विकसित

नई दिल्ली : कोरोना वायरस को हराने के लिए सभी देश एकजुट होकर अपनी-अपनी

कोशिशों में लगे हुए है। कई देश भारत की तरह पूरी तरह से लॉकडाउन हो चुकी है और

अपनी ओर से सभी तकनिकों का इस्तेमाल किया जा रहा है उसकी वैक्सीन बनाने के

साथ-साथ फिलहाल उसकी टेस्ट किट बनाने की कोशिशें भी लगातार जारी हैं, ताकि पुष्टि

में लगने वाला समय घटाया जा सके ताकि कोरोना वायरस के प्रकोप को कम किया जा

सके और फिर से बेपटरी हुई देश की हालत सुधार सके। मौजूदा समय में कोविड-19 के

मरीज़ की पुष्टि करने में दो दिन या उससे ज़्यादा वक्त लग रहा है।

कोरोना वायरस है कि नहीं जाने सिर्फ पांच मिनट में

इस क्रम में मेडिकल डिवाइस बनाने वाले एक अमेरिका कंपनी ने दावा किया है कि

उन्होने एक ऐसी डिवाइस विकसित की है जिससे सिर्फ पांच मिनट में पता लगाया

सकता है कि कोई व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित है या नहीं। बता दें कि मेडिकल

डिवाइस बनाने वाली अमेरिकी कंपनी एबॉट लेबोरेटरीज ने कोरोना वायरस

(coronavirus) के संक्रमण की जांच के लिए एक पोर्टेबल टेस्ट का प्रदर्शन किया है।

जिसपर कंपनी का दावा है कि उनके द्वारा बनाई गई डिवाइस की एक टेस्ट से सिर्फ

पांच मिनट में पॉजिटिव और 13 मिनट में निगेटिव मरीजों का पता लगा सकेंगे। और

सबसे महत्वपूर्ण बात पर गौर करते हुए कंपनी ने विज्ञप्ति जारी कर कहा कि यह टेस्ट

उसके ID NOW प्लेटफॉर्म पर होगा। यह एक छोटा, हल्का और पोर्टेबल डिवाइस है।

जो मोलिक्यूलर प्रौद्योगिकी पर काम करता है। कंपनी का दावा है कि इस नई

उपकरण द्वारा टेस्ट किए जाने पर तेजी से कोरोना वायरस के मामलों का पता चल

जाएगा। कंपनी ने इस संदर्भ में ट्वीट करके भी जानकारी दी। कंपनी ने बताया टेस्ट

उसके ID NOW प्लेटफॉर्म पर होगा। यह एक छोटा, हल्का और पोर्टेबल डिवाइस है जो

आसानी से क्लीनिक में भी प्रयोग किया जा सकता है। एबॉट लैब ने प्रेस विज्ञप्ति के

साथ साथ ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है।

क्या दावा है कंपनी का यहां देखें

BREAKING: We’re launching a test that can detect COVID-19 in as little as 5 minutes—bringing rapid testing to the frontlines. https://t.co/LqnRpPpqMM pic.twitter.com/W8jyN2az8G

कंपनी ने आगे यह भी बताया है कि अमेरिका खाद्य एवं औषधि प्राधिकरण (FDA)ने

कोरोनावायरस का पता लगाने के लिए मोलिक्यूलर प्वाइंट ऑफ केयर टेस्ट के लिए

आपातकालीन उपयोग मंजूरी (EUA) जारी कर दिया है जो मोलिक्यूलर प्रौद्योगिकी

पर काम करता है. इस डिवाइस का इस्तेमाल अमेरिका में इन्फ्लुएंजा ए और बी, स्ट्रेप

ए और आरएसवी परीक्षण  के लिए पहले से किया जा रहा है।

जर्मनी भी कर रही दावा

ब्लूमबर्ग में प्रकाशित ख़बर के अनुसार, रॉबर्ट बॉश जीएमबीएच (Robert Bosch GmbH)

के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) वोल्कमार डेनर ने गुरुवार को दावा करते हुए इस

बारे में जानकारी दी है कि जर्मनी के एक कंपनी ने एक नई जांच किट को विकसित किया

है, जिससे ढाई घंटे से भी कम समय में कोविड-19 की पुष्टि की जा सकती है। कोरोना

महामारी को लेकर छिड़ी हुई जंग में सभी देशों को इस किट से मदद मिल सकेगी


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

3 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat