fbpx Press "Enter" to skip to content

असम में बारिश और भयानक बाढ़ से अब तक 78 की मौत

  • काजीरंगा नेशनल पार्क का 80% हिस्सा डूबा
भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी : असम में बारिश की वजह से बाढ़ का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है।

रविवार शाम तक बाढ़ के कारण यहां अधिक से अधिक पंद्रह और लोगों की मौत हो गई।

जिससे मरने वालों का आंकड़ा 78 तक पहुंच गया। पिछले एक महीने में दूसरी बार आई

बाढ़ में अबतक 78 लोगों की मौत हो चुकी है। 23 जिलों के करीब 40 लाख लोग बाढ़ से

प्रभावित हैं। यहां करीब 40 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। 2,584 गांव पानी में डूबे हुए हैं।

वहीं, 1.67 लाख हेक्टेयर फसल खराब हो चुकी है।

The adult elephant strayed out of the park is moving towards the embankment at Baghjan village in Nagaon on Tuesday,26th August 2014.Photo:Subhamoy Bhattacharjee/IFAW-WTI

ब्रह्मपुत्र समेत कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। असम राज्य आपदा

प्रबंधन प्राधिकरण ने अपने नियमित बुलेटिन में बताया कि मोरीगांव में बाढ़ से एक

व्यक्ति की मौत हुई और एक अन्य व्यक्ति की मौत तिनसुकिया जिले में हुई है। दो और

मौत के बाद राज्य में मृतकों की संख्या 78 हो गई है, जिनमें से 53 लोगों की मौत बाढ़ के

कारण और 24 लोगों की मौत लगातार हुई बारिश के कारण हुए भूस्खलन से हुई है।

असम में बारिश के साथ साथ भूस्खलन से नुकसान

यह उल्लेख करना महत्वपूर्ण है कि बाढ़ के कारण राज्य में काफी नुकसान हुआ है।

प्रधानमंत्री ने केंद्र की ओर से हर प्रकार की सहायता का आश्वासन दिया है। इस बीच

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाढ़ में जान गंवा चुके लोगों के परिवार को दो लाख रुपये आर्थिक

मदद देने का एलान किया है। लखीमपुर और बोंगाईगांव में शनिवार को बाढ़ का पानी कम

हुआ है।धेमाजी, बिश्वनाथ, चिरांग, दारंग, नलबाड़ी, बारपेटा, कोकराझार, धुबरी, दक्षिण

सालमारा, गोलपाड़ा, कामरूप, कामरूप मेट्रोपॉलिटन, मोरीगांव, नागांव, गोलाघाट,

जोरहाट, डिब्रूगढ़ और तिनसुकिया जिले बाढ़ से प्रभावित हैं। असम में फिर से आई बाढ़ के

कारण 481 वर्गकिमी क्षेत्र में फैले काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान का लगभग 80 फीसदी हिस्सा

पानी में डूब गया। बाढ़ के कारण 7 गैंडे समेत 112 प्राणी मौत के मुंह में समा गए।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from असमMore posts in असम »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from मौसमMore posts in मौसम »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!