Press "Enter" to skip to content

अंजुम आरा दहेज हत्या मामले में 5 गिरफ्तार, सभी भेजे गए जेल







धनबाद(झरिया) : धनबाद जिले के पुटकी थाना क्षेत्र से दहेज और अन्य के साथ संबंध बनाने के लिए प्रताड़ित कर हत्या मामले में मुनिडीह पुटकी पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। जिनमें से तीन महिला को महिला थाना के सुपुर्द किया गया. वहीं इस बाबत महिला थाना की पुलिस अधिकारी ने बताया कि दहेज प्रताड़ना और हत्या मामले में 3 महिला और दो पुरुष को गिरफ्तार किया गया है।

इन्हें विशेष टीम ने पश्चिम बंगाल के आसनसोल से गिरफ्तार किया है। इन सभी का कोरोना जांच कराने के लिए अस्पताल ले जाया जा रहा है। जहां से सभी अभियुक्तों को न्यायालय में प्रस्तुत कर धनबाद जेल भेज दिया जाएगा। आरोपियों को थाना से जेल भेजे जाने के दौरान मृतका अंजुम आरा के परिजन और सगे संबंधी काफी संख्या में महिला थाना पहुंच गए। जहां आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की। वहीं पुलिस ने विशेष सुरक्षा इंतजाम कर पांचों आरोपियों को हिफाजत में लेकर न्यायालय ने गई है।

विदित हो कि आरोपी पति को गोविंदपुर पुलिस ने पिछले सप्ताह गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। मालूम हो कि मृतक के परिजनों का आरोप है कि विवाहिता को उसके पति और ससुराल वाले दहेज के लिए लगातार प्रताड़ित कर रहे थे। यही नहीं विवाहिता को ड्रग्स देकर दूसरे के साथ संबंध बनाने पर मजबूर किया जाता था। मृतक के परिजनों का कहना है कि उन्होंने इस बारें में पुलिस को भी सूचना दी थी, लेकिन पुलिस ने किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं की थी। जिसके बाद दहेज लोभियों ने उनकी बेटी की हत्या कर दी।

अंजुम आरा दहेज की शिकार हो गई

पुटकी थाना क्षेत्र में रहने वाली एक विवाहिता अंजुम आरा दहेज की शिकार हो गई थी। जानकारी के अनुसार, जून 2020 में गोविंदपुर थाना क्षेत्र में रहने वाले पिता के अपनी बेटी की पूरे रीति-रिवाज के साथ निकाह किया गया था। शुरू में तो किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हुई, लेकिन कुछ दिनों बाद ही उनकी बेटी को दहेज के लिए परेशान किया जाने लगा। मायके से पैसे नहीं लाने के कारण उसके साथ मारपीट की जाती थी।

यही नहीं लड़की को नशा देकर दूसरे से संबंध बनाने के लिए भी मजबूर किया जाता था। ऐसा नहीं करने पर उसके साथ मारपीट की जाती थी। इसकी जानकारी जब लड़की के घर वालों को लगी तो उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी थी। परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने किसी भी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की। मृतक के परिजनों का आरोप है कि उसकी बेटी के साथ मारपीट की गई। जिससे उसकी हालत काफी खराब हो गई थी।

जिसके बाद उसे बोकारो बीजीएच अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। लड़की की मौत के बाद उसका पति और अन्य परिजन शव अस्पताल में ही छोड़कर फरार हो गए थे। पड़ोसियों की सूचना पर मृतक के मायके वाले अस्पताल पहुंचे और शव को लिया था। उन्होंने दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाकर शव के साथ ैैच् आॅफिस के सामने प्रदर्शन किया था।



More from अपराधMore posts in अपराध »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धनबादMore posts in धनबाद »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: