fbpx Press "Enter" to skip to content

17 ट्रेनों से 23 हजार प्रवासी मजदूर आ चुके झारखंड, 5.50 लाख प्रवासी श्रमिकों ने अब तक कराए रजिस्ट्रेशन

रांची : 17 ट्रेनों से 23 हजार प्रवासी श्रमिकों की घर वापसी अब तक हो चुकी है। जहां

लॉकडाउन में संगठन की ओर से चलाये जा रहे कार्य, कंट्रोल रूम के माध्मय से जरूरतमंद

और निर्धन परिवारों के बीच राहत सामग्री के वितरण तथा हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से

फंसे प्रवासी कामगारों को मदद पहुंचाने को लेकर नई दिल्ली से अखिल भारतीय कांग्रेस

कमेटी के महासचिव केसी वेणुगोपाल और कोषाध्यक्ष अहमद ने वीडियो कांफ्रेसिंग के

माध्यम से प्रदेश अध्यक्ष सह राज्य के वित्त एवं खाद्य आपूर्ति मंत्री डा. रामेश्वर उरांव से

बात की। इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने बताया कि झारखंड में दो अप्रैल से कंट्रोल

रूम प्रभावी है और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार श्रमिकों को हेल्पलाइन

के माध्यम से लगातार सहायता उपलब्ध करायी जा रही है। उन्होंने बताया कि झारखंड में

कांग्रेस सरकार में शामिल हैऔर राज्य की गठबंधन सरकार प्रवासी श्रमिकों की वापसी के

लिए लगातार प्रयासरत है, अब तक 17 ट्रेनों के माध्यम से 23 हजार श्रमिक वापस लौट

चुके हैं, इसके अलावा यात्री बस और सड़क मार्ग से भी बड़ी संख्या में पड़ोसी राज्यों से

कामगार वापस लौटे हैं। इसके बावजूद यदि कहीं से कोई कठिनाई की सूचना प्राप्त होती

है, तो पार्टी संगठन की ओर से सरकार को आवश्यक सहायता उपलब्ध करायी जाएगी।

17 ट्रेन चले अबतक, कितने और चलने बाकी

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा प्रवासी

श्रमिकों को लाने का काम शुरू कर दिया गया है और मुख्य सचिव के अनुसार लगभग

साढ़े 5.50 लाख प्रवासी श्रमिकों ने आज तक रजिस्ट्रेशन कराया जा चुका है, जबकि कांग्रेस

संगठन की ओर से आठ हजार प्रवासी श्रमिकों की सूची बनायी गयी है। इस सूची को भी

मुख्य सचिव को सौंप दिया जाएगा और उनसभी की वापसी सुनिश्चित होगी। इसके

अलावा पार्टी के सभी विधायक अच्छा काम कर रहे है, राशन उपलब्ध कराने के साथ ही

मास्क और सैनिटाइजर उपलब्ध कराया जा रहा है। डा. उरांव ने कहा कि राज्य सरकार की

ओर से पहले ही सभी राज्यों से समन्वय स्थापित करने को लेकर नोडल पदाधिकारियों

की प्रतिनियुक्ति कर दी थी जिसके तहत लगभग साढ़े आठ लाख मजदूरों ने अपना

रजिस्ट्रेशन पहले ही करा लिया था,जिन्हें आर्थिक मदद भी पहुंचाई गई थी। जिसके

परिणाम स्वरूप तेजी से सभी प्रवासी श्रमिक झारखंड वापस लौट रहे है। इस मौके पर

प्रदेश कांग्रेस राहत निगरानी (कोविड-19) समिति के सदस्य प्रदीप तुलस्यान, आलोक

कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव आदि कई अन्य वरिष्ठ लोग उपस्थित थे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कामMore posts in काम »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from नेताMore posts in नेता »
More from बयानMore posts in बयान »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

3 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!