fbpx Press "Enter" to skip to content

22 हाथियों का बड़ा दल मुंगो रंगामाटी जंगल में पहुंचा

बेरमो /गोमिया : 22 हाथियों का बड़ा दल अब बोकारो जिले के नावाडीह प्रखंड ऊपरघाट

स्थित पेंक पंचायत बोरवापनी के जंगल में 22 हाथियों का एक झुंड बुधवार की सुबह

विचरण करते देखा गया। वहीं दोपहर को मुंगोरंगामाटी पंचायत के कोठी, रेवागढा व

लोहरगढा जंगल की पहाडी में विचरण करते हुए गांव में घुंसकर बसंती देवी, मुन्नी देवी

सहित चार घरों को क्षतिग्रस्त कर खेतों में लगे फसल को भी नष्ट कर दिया l घटना की

सूचना मिलने के बाद सूबे के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो घटनास्थल पहुंचकर पीड़ित

परिवार को एक-एक हजार रुपए एवं 50-50 किलो अनाज दिलवाया।

हाथियों के आतंक की सूचना मिलने के बाद इन 22 हाथियों के दल पर लगातार नजर रखी

जा रही है। मिली जानकारी के मुताबिक बगोदर क्षेत्र की जंगल से मंगलवार की देर शाम

हाथियों का झुण्ड इन जंगलों में पहुंचा था। हाथियों की कुल संख्या 22 है, जिसमें हांथी के

चार बच्चे बताये जा रहे है। वनपाल रामेश्वर हाजरा ने बताया कि दो दिन से वन विभाग

की टीम झुंड पर नजर रखी है। झुंड को हाथी भगाओ टीम गोमिया के पशु रक्षक बद्री

प्रजापति एवं दिलीप साव के नेतृत्व में उपाय किये जा रहे हैं। जिससे आमलोगों को ज्यादा

नुकसान नहीं उठाना पड़े। जंगल में विचरण करते हाथियों के झुंड को मशाल के सहारे

भगाने का कार्य किया जा रहा है।

22 हाथियों के होने से अधिक दहशत का माहौल

आम तौर पर झारखंड के इलाकों में हाथियों का इतना बड़ा झूंड बहुत कम एकत्रित होता

है। हाथियों के बड़े दल हमेशा घने जंगलों के बीच ही रहते हैं। इसी वजह से 22 हाथियों का

बड़ा दल होने की वजह से उनसे खतरा अधिक हो गया है। खास कर अनाज की महक

पाकर वे कच्ची दीवारों को आसानी से ध्वस्त कर देते हैं। इसके अलावा जंगल में लकड़ी

चुनने अथवा किसी दूसरे काम से आने जाने वालों का अचानक हाथियों से सामने होने पर

भी हमले का खतरा बना ही रहता है।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कृषिMore posts in कृषि »
More from पर्यावरणMore posts in पर्यावरण »
More from बोकारोMore posts in बोकारो »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from लाइफ स्टाइलMore posts in लाइफ स्टाइल »

2 Comments

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: