Press "Enter" to skip to content

पांच रोहिंग्या युवतियों के पकड़े जाने के बाद सतर्क हुई पुलिस




  • कथित रोहिंग्या युवतियां दलाल के साथ हिरासत में

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटीः पांच युवतियों को संदेह के आधार पर त्रिपुरा में पकड़ा गया है।

अनुमान है कि ये सभी रोहिंग्या समुदाय की लड़कियां हैं।

उनके साथ एक दलाल को भी पकड़ा गया है।

प्रारंभिक खोज बीन के आधार पर समझा गया है कि इन पांचों ने इस दलाल को भारत में सुरक्षित पहुंचाने के एवज में पैसे दिये हैं।

पकड़े जाने के बाद पुलिस इनके बारे में सारी जानकारी हासिल कर रही है।

त्रिपुरा के चुराबाड़ी गेट पर संदेह के आधार पर पुलिस ने इनलोगों को पकड़ा।

हिरासत में ली गयी लड़कियों के नाम जन्नत, आबीजा, सलेहा, राबिका और राशिदा है।

उनके साथ पकड़े गये दलाल का नाम सामल मियां है।

पुलिस के मुताबिक इनलोगों ने बांग्लादेश से त्रिपुरा के पास ही भारत में प्रवेश किया था।

वहां से उन्हें किसने भारत घुसने में मदद की, उसकी जांच चल रही है।

त्रिपुरा से असम के करीमगंज इलाके में आते वक्त एक गाड़ी से उन्हें रोका गया।

इस गाड़ी का नंबर टीआर 01 ए 0211 है।

गाड़ी रोके जाने के बाद इन लड़कियों से प्रारंभिक पूछताछ में ही पता चला है कि

हरेक ने भारत में सकुशल पहुंचाने के लिए दलाल को छह छह हजार रुपये दिये हैं।

इसके एवज में दलाल की यह जिम्मेदारी थी कि वह इन्हें सही तरीके से करीमगंज तक पहुंचा देगा।

पांच लड़कियों के पहले भी पकड़े गये हैं अनेक रोहिंग्या

उल्लेखनीय है कि गत 21 जनवरी को ही तीस रोहिंग्या लोगों को पुलिस ने गुवाहाटी आने वाली बस से करीमगंज के पास से पकड़ा था।

इसी तरह गत सात फरवरी को भी सात रोहिंग्या बच्चों के आरपीएफ ने हिरासत में लिया था।

इस किस्म की मानव तस्करी के मामले में मणिपुर पुलिस पहले ही

उत्तर प्रदेश की एक दंपति को हिरासत में ले चुकी है, जो यहां से लोगों को

अपने यहां बसाने का कारोबार चला रहे थे।

वैसे लड़कियों को यहां लाने की सूचना के बाद इलाके की पुलिस और सतर्क हो गयी है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.