Press "Enter" to skip to content

कांग्रेस प्रत्याशी बोलने से पहले गिरेबां में पहले झांक लेः नवीन जयसवाल




रांची: कांग्रेस नेताओं द्धारा भाजपा पर नफरत और अधिनायकवाद फैलाने के आरोप पर

प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा प्रदेश मंत्री सह विधायक नवीन जायसवाल ने कहा कि

सुबोधकांत सहाय जिस पार्टी से संबंध रखते हैं। उसी पार्टी ने 1975 में आपातकाल थोपकर

अधिनायकवादी छवि से देश को अवगत कराया था।

आपातकाल के दौरान विरोधी नेताओं को जेल में डालना तथा मीडिया के स्वततंत्रता पर

कुठाराघात अधिनायकतावादी सोच को बढ़ावा देनेवाली पार्टी ही कर सकती है।

सुबोधकांत इस तरह की बात करने से पहले अपने गिरेबां में झांके।

श्री सहाय वही व्यटक्ति हैं, जो आपातकाल के विरोध में देशव्या पी आंदोलन की अगुवाई कर रहे

संगठनों के सहारे ही पहली बार विधायक बने थे।

इसके बाद सत्तान सुख पाने के लिए सुविधा अनुसार अलग-अलग दलों का दामन थामते रहे।

श्री जायसवाल ने कहा कि कांग्रेसी नेताओं को यह भी स्पाष्टी करना चाहिए कि

1984 में देशव्यापी सिख नरसंहार इस अधिनायकवादी सोच का परिचायक था या नहीं।

कांग्रेस को पहले अपने कियों पर माफी मांगनी चाहिए

कांग्रेस ने अनेक अवसरों पर देश के संवैधानिक संस्था ओं को नीचा दिखाने का काम किया है

सर्वोच्च न्यापयालय के फैसले को सांप्रदायिक तुष्टिकरण की नियत से बहुमत का

घमंड दिखाते हुए संसद से पलट दिया था और एक पीड़िता शाहबानों को न्याय से वंचित किया था।

सर्वोच्च न्यायालय के फैसलों पर सुविधा अनुसार सवाल खड़े करना एवं समर्पित न्यामयपालिका जैसी सोच को बढ़ावा देना देश की पुरानी पार्टी के अधिकनायकवादी सोच का ही परिणाम है।

श्री जायसवाल ने कहा कि चुनाव आयोग जैसी स्वा यत्तक संस्थाी को भी कमजोर करने में कांग्रेस ने कोई कसर नहीं छोड़ा।

बार-बार ईवीएम का रोना रोकर देश के मतदाताओं का अपमान किया जा रहा है।

उन्होंबने कहा कि राफेल मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश और सीएजी की रिपोर्ट की अवहेलना करना

और बार-बार इस मामले पर झूठ बोलना पार्टी की अहंकारवादी और अधिनायकवादी

सोच को ही प्रतिबिंबित करती है।



Spread the love
  • 3
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    3
    Shares
More from नेताMore posts in नेता »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.