fbpx Press "Enter" to skip to content

200 हिंदू पाकिस्तान से भारत पहुंचे कहा नागरिकता लेंगे

अमृतसरः 200 हिंदू आज पाकिस्तान से भारत चले आये। उनके भारत

आने के बाद अकाली नेता और दिल्ली सिक्ख गुरुद्वारा प्रबंधक

कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि इन लोगों को

भारत की नागरिकता दिलाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा।

श्री सिरसा खुद उन तमाम परिवारों को लाने आज यहां के बाघा सीमा

पर पहुंचे थे। इन परिवारों की तरफ से सिरसा ने कहा है कि पाकिस्तान

में धार्मिक प्रताड़ना झेलने की वजह से यह 200 लोग भारत चले आये हैं।

कुछ ऐसे होता है अटारी सीमा पर देशभक्ति का जश्न

अटारी बाघा सीमा पर आने वाले लोगों के बारे में यह बताया गया कि

इनमें से अधिकांश लोग पर्यटक का वीजा लेकर भारत पहुंचे हैं। लेकिन

यह स्पष्ट संकेत है कि इनमें से अधिकांश लोग अब वापस जाना नहीं

चाहते हैं। श्री सिरसा ने उनकी तरफ से कहा कि ऐसे सारे लोग अब

पाकिस्तान में खुद को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं। इसीलिए उन्हें

भारत की नागरिकता मिले, इसके लिए प्रयास किये जाएंगे।

श्री सिरसा वहां चार परिवारों का स्वागत करने पहुंचे थे। श्री सिरसा ने

कहा कि इस मुद्दे पर वह शीघ्र ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के भी

भेंट करेंगे और ऐसे लोगों को भारत की नागरिकता देने का अनुरोध

करेंगे। उन्होंने इन पाकिस्तानी परिवारों को स्वागत करने के बाद कहा

कि अपनी धार्मिक स्वतंत्रता पर लगातार हमला होने की वजह से ही

इन परिवारों को वहां से भाग आना पड़ा है। दूसरी तरफ सीमा पर

तैनात अधिकारी भी इस बात को स्वीकार कर रहे हैं कि पिछले एक

महीने से पाकिस्तान से वीजा लेकर आने वाले हिंदुओं की संख्या में

काफी बढ़ोत्तरी हो रही है।

200 हिंदू परिवारों को सीएए कानून से उम्मीद

याद रहे कि केंद्र सरकार ने तीन देशों में धार्मिक प्रताड़ना झेल रहे

अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा के लिए ही सीएए कानून लाने की बात

कही है। यह तीन देश पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश हैं।

आज जो लोग भारतीय सीमा में आये हैं, उनमें से अधिकांश सिंध और

कराची के इलाकों से आये हैं। इनमें से कुछ लोग अपने साथ ढेर सारा

सामान भी ले आये हैं। इनमें से अनेक लोग अपने रिश्तेदारों से मिलने

राजस्थान जाने वाले हैं। आने वालों ने अपनी पहचान छिपाते हुए यह

कहा कि दरअसल वहां घर की लड़कियों की सुरक्षा सबसे बड़ी चिंता का

विषय बन गया है। दिक्कत की बात यह है कि ऐसी घटना होने के बाद

पाकिस्तान की पुलिस भी मूकदर्शक बनी रहती है। पाकिस्तान के

उत्तर पश्चिमी इलाकों में लड़कियों के घूमने पर सुरक्षा का संकट

इनदिनों काफी बढ़ गया है

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply