fbpx Press "Enter" to skip to content

बीस प्रतिशत बोनस नहीं मिलने से मजदूरों का अनिश्चितकालीन हड़ताल




  • टाटा स्टील लांग प्रोडक्ट के ठेका मजदूर नाराज

  • डायनामिक कंपनी के अधीन कार्यरत साठ मजदूर

  • विजय दो खदान में क्रशर प्लांट तीन दिनों से बंद

गुवाः बीस प्रतिशत बोनस का मामला अब विजय दो खदान के लिए सरदर्द बन गया है।

डायनेमिक इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी ठेका कंपनी में कार्यरत मजदूरों ने अपनी

विभिन्न मांगों को लेकर घाटकुड़ी विजय दो खदान परिसर में संचालित क्रशर प्लांट चार

दिनों से बंद कर आंदोलन पर उतरे हैं।सात सूत्री मांगों को लेकर 24 अक्टूबर से आंदोलन

शुरू की गई है।गुवा हाथी चौक समीप खादान जाने वाले रास्ते के किनारे ठेका कंपनी के

विरोध में मजदूर आंदोलन में बैठ गए हैं।मजदूर सिर पर हेलमेट और ड्यूटी जैकेट पहन

रखे हैं।मजदूरों ने बताया कि ठेका कंपनी के समक्ष बीस फीसद वार्षिक पूजा बोनस

देने,इसी साल सितंबर महीने में ठेका कंपनी के विरोध में हड़ताल किए गए अवधि सात

दिनों की मजदूरी देने,17 अक्टूबर के दिन विश्वकर्मा पूजा के दिन की वेतन देने,इस बार

24 अक्टूबर से शुरू कर बातचीत होने तक हड़ताल अवधि की वेतन देने,साल में 18 दिनों

की इएल अवकाश देने,एरियर सुविधा देने के आलावा खादान में ड्यूटी के दौरान लगे

धूलकण के एवज में सुविधा देने,जलपान के लिए कैंटीन व्यवस्था और महीने में मिलने

वाले वेतन मद की राशि को बैंक खाते में जमा करने के पहले टाटा स्टील लांग प्रोडक्ट

कंपनी कार्यालय अधिकारियों के समक्ष सार्वजनिक करने की मांग शामिल है।

बीस प्रतिशत बोनस के अलावा भी मजदूरों की कई मांगे

कर्मचारियों ने बताया कि ठेका कंपनी ठेकेदार ने आंदोलन स्थल पर काम पर नही लौटने

पर ड्यूटी से हटाने और पुलिस को लाकर जेल भेजने की धमकी देकर लौट गया है।बताया

कि इस बार ठेका कंपनी के खिलाप संतोषजनक वार्ता नहीं होने तक आर या पार की लड़ाई

लड़ी जाएगी।वार्ता होने तक क्रशर प्लांट कार्य पूरी तरह से बंद रहेगी। महीने की सैलरी भी

किस दर पर केवल 12 हजार रुपए भुगतान करती है। हमारी खून पसीने की कमाई का एक

बड़ा हिस्सा उनके जेब में चली जाती है।

क्या कहता है प्रबंधन

हड़ताल कर रहे कर्मचारियों से बातचीत के लिए सोमवार को गए थे। उन्हें हमने 8.33

फीसद वार्षिक बोनस देने के लिए कह रहे थे। परंतु वे लोग 20 फीसद बोनस की मांग पर

अड़े हैं। फिलहाल वार्ता में बिलंब हो सकती है।रंजीत सिंह,निदेशक 



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कामMore posts in काम »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पश्चिम सिंहभूमMore posts in पश्चिम सिंहभूम »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: