fbpx Press "Enter" to skip to content

बेमौसम भीषण वर्षा से पाकिस्तान में 17 मरे, कई घायल

इस्लामाबादः बेमौसम भीषण बर्षा का प्रभाव पाकिस्तान के कई इलाकों में पड़ा है। भारी

बारिश के कहर के कारण पिछले 24 घंटे के दौरान महिलाओं और बच्चों सहित कम से

कम 17 लोगों की मौत हो गयी तथा कई अन्य घायल हो गये। पाकिस्तान के उत्तर-

पश्चिमी खैबर पख्तूनख्वा (केपी) प्रांत के आपातकालीन बचाव सेवा के अधिकारी जावेद

खलील ने बताया कि बेमौसम भीषण बारिश से सबसे ज्यादा मौतें खैबर पख्तूनख्वा प्रांत

में हुई हैं। यहां अलग-अलग घटनाओं में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गयी जबकि कई

अन्य घायल हो गये। उन्होंने बताया कि मूसलाधार बारिश के कारण प्रांत कम से कम 10

मकान और एक स्कूल की इमारत क्षतिग्रस्त हो गयी तथा खेतों में खड़ी फसलों को गंभीर

नुकसान पहुंचा है। देश के पंजाब प्रांत और बलूचिस्तान प्रांत के विभिन्न हिस्सों में दो

बच्चों सहित कम से कम पांच लोग मारे गये और कई अन्य घायल हो गये। खैबर

पख्तूनख्वा और पंजाब प्रांतों के प्रांतीय आपदा प्रबंधन अधिकारियों ने खराब मौसम और

बाढ़ की आशंका के मद्देनजर अलर्ट जारी किया है। सभी संबंधित अधिकारियों को इस

दौरान जान-माल के नुकसान से बचने के लिए एहतियाती उपाय करने की सलाह दी गयी

है। जबकि बचाव औऱ राहत के लिए दल भेजे गये हैं।

बेमौसम भीषण वर्ष से आम जनजीवन भी बाधित

देश में लगातार हो रही बारिश और शीतलहर ने भी सामान्य जन-जीवन को बुरी तरह

प्रभावित कर दिया है। स्थानीय लोगों को तकनीकी समस्याओं के कारण प्राकृतिक गैस के

निम्न दाब और बिजली आपूर्ति में बाधा का सामना करना पड़ रहा है। कुछ इलाकों में

आंधी और बारिश के कारण कई बिजली के खंबे उखड़ गये। भारी बारिश और हिमपात ने

राष्ट्रीय राजमार्गों पर यातायात को भी प्रभावित किया। सड़कों पर फिसलन हो गयी

जिससे कई दुर्घटनाएं हुईं। इससे पहले सोमवार को पाकिस्तान के मौसम विभाग ने

बुधवार से देश के अधिकांश हिस्सों में बारिश का अलर्ट जारी किया था और शनिवार तक

बारिश का दौर जारी रहने का पूर्वानुमान व्यक्त किया था। इस दौरान खैबर पख्तूनख्वा,

इस्लामाबाद और पंजाब, बलूचिस्तान और सिंध प्रांतों के कई जिलों में गरज के साथ

बारिश होने की संभावना है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat