fbpx Press "Enter" to skip to content

चौपारण थाना क्षेत्रान्तर्गत अवैध शराब के अड्डो पर छापामारी

  • 14 शराब निर्माण के अड्डे नष्ट

  • 6000 किलो जावा महुआ नष्ट

  • 210 लीटर चुलाई शराब जब्त

अशोक कुमार शर्मा

हज़ारीबाग : चौपारण थाना क्षेत्र में आज अवैध शराब के अड्डों के खिलाफ एक बड़ी

कार्रवाई की गयी। दरअसल हजारीबाग के उपायुक्त आदित्य कुमार आनंद तक अवैध

शराब के कारोबार की लगातार शिकायतें पहुंच रही थी। उपायुक्त ने तमाम शिकायतों पर

विचार के बाद हजारीबाग के उत्पाद विभाग के अधिकारियों को इन शिकायतों के आधार

पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया था।

वीडियो में देखिये उत्पाद विभाग की यह कार्रवाई

उपायुक्त का निर्देश पाते ही आबकारी विभाग सक्रिय हो उठा था। इसी सक्रियता का

परिणाम आज देखने को मिला। हज़ारीबाग उपायुक्त की तरफ से भी विभाग के चौपारण

थाना क्षेत्र के अवैध शराब के अड्डों के बारे में संभवतः कुछ जानकारियां दी गयी थी। उनके

निर्देश पर वहां पहुंचे उत्पाद विभाग के छापामार दल ने आज यानी 19 सितंबर को भगहर

भण्डार क्षेत्र में इतनी बड़ी कार्रवाई की। इस क्रमिक छापामारी के तहत एक एक कर अवैध

चुलाई शराब के अनेक अड्डों पर दल के लोग पहुंचे। इसके क्रम में पास के जंगलों में

स्थापित अवैध शराब चुलाई के चौदह अड्डे भी ध्वस्त कर दिये गये। लोगों का ध्यान

आकृष्ट ना हो इसी वजह से जंगल में अवैध शराब का यह कारोबार यानी देसी शराब

बनाने की ऐसी अवैध फैक्ट्रियां संचालित की जा रही थी। छापामारी के क्रम में इन सारे

अड्डों को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया गया।

चौपारण थाना के जंगली इलाकों में चल रहा था कारोबार

छापामारी के दौरान जंगल में स्थापित 14 अवैध अड्डों को ध्वस्त करने के साथ साथ

मौके से 6000 किलो जावा महुआ, 210 लीटर चुलाई शराब तथा 300 किलो गुड़ जब्त

किया गया। मौके पर जब्त जावा महुआ व चुलाई शराब को नष्ट कर दिया गया। इस क्रम

में अवैध शराब के अड्डा चलाने वाले जंगल का लाभ उठाते हुए फरार हो गये। जिनके

विरूद्ध फरार अभियोग न्यायालय में दर्ज की गई है। छापामारी दल में उत्पाद विभाग के

पदाधिकारी, अनुमण्डल पदाधिकारी बरही के द्वारा प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी, उत्पाद

सिपाही सहित होमगार्ड के जवान शामिल थे। गांव के इलाके में बड़े सिंटैक्स की टंकी में

शराब बनाने का सामान भी बरामद हुआ था। उस टंकी को उलटने के दौरान एक महिला

बार बार हाथ जोड़कर टंकी को नहीं तोडऩे क बात कहती रही। लेकिन सिंटैक्स में पूरा

महुआ भरा होने की वजह से उसे उलटने के क्रम यह टंकी गिरकर टूट गयी। उसके बाद

टंकी और उसमें से मिसे सामान को भी नष्ट करने के क्रम में आग के हवाले कर दिया

गया ताकि अवैध शराब के धंधे में उनका इस्तेमाल नहीं हो सके।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »
More from हजारीबागMore posts in हजारीबाग »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!