fbpx Press "Enter" to skip to content

इराकी ठिकानों पर ईरान के हमले से 11 अमेरिकी सैनिक घायल

वाशिंगटनः इराकी ठिकानों पर मिसाइल हमले में अमेरिका के 11

सैनिक घायल हुए हैं। ईरान के मेजर जनरल सुलेमानी को विमान और

ड्रोन हमले में मार गिराने के बाद ईरान ने यह जवाबी हमला किया था।

इसके तहत इराकी क्षेत्र में जो अमेरिकी सैन्य अड्डे थे उनपर मिसाइल

गिराये गये थे। इस हमले के बाद अमेरिका ने प्रारंभिक तौर पर कहा

था कि ईरान ने 16 मिसाइल छोड़े थे लेकिन इससे कोई इराकी ठिकानों

पर रहने वाला कोई भी अमेरिकी सैनिक हताहत नहीं हुआ है। खुद

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी ऐसी बात कही थी। अब पता

चल रहा है कि वहां हुए हमले में 11 अमेरिकी सैनिक घायल हुए हैं।

अमेरिकी सेंट्रल कमांड ने पहली बार यह जानकारी देते हुए स्पष्ट

किया है कि इन हमलों में कोई भी अमेरिकी सैनिक मारा नहीं गया है।

अमेरिकी सेना के मुताबिक इराकी सैन्य शिविरों में रहने वाल जिन

अमेरिकी सैनिकों को चोट पहुंची है वह आग अथवा विस्फोट की चोट

है। यह जानकारी सेंट्रल कमांड के प्रवक्ता कैप्टन बिल अरबन ने दी है।

इराकी सीमा के भीतर बने अमेरिकी सैन्य अड्डों पर जब ईरान ने यह

हमला किया था तो वहां डेढ़ हजार सैनिक मौजूद थे। अमेरिकी सेना

पहले से ही ऐसे किसी हमले के लिए तैयार थी। इसलिए जब ईरानी

मिसाइल गिरे तो अधिकांश सैनिक बंकरों के अंदर सुरक्षित रहे।

अलबत्ता मिसाइल हमले से साजोसामान का काफी नुकसान होने की

बात को अमेरिकी सेना ने अब स्वीकार कर लिया है।

इराकी ठिकानों से घायलों को हटाया गया है

अमेरिकी सेना के प्रवक्ता ने बताया है कि घायल सैनिकों में से आठ

लोगों को लैंडस्थूल और तीन को कैंप आरिफजान ले जाया गया है।

इनमें से पहले जर्मनी में और दूसरे कुवैत में स्थित है। मालूम हो कि

इराक की भौगोलिक सीमा के भीतर आतंकवादियों की सक्रियता की

वजह से अमेरिकी और अन्य गठबंधन सेना के सैनिक तैनात है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from बयानMore posts in बयान »

Be First to Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by